UP: बोरवेल में गिरे अनुज ने 31 घंटे जिंदगी से लड़ने के बाद तोड़ा दम

सीतापुर के पट्टी गांव में सोमवार 24 फरवरी की शाम अचानक बोरवेल की मिट्टी धंस गई जिसमें करीब 40 फीट नीचे पाइप खोल रहा एक अनुज नाम का किसान मिट्टी में दब गया था. बोरवेल मे गिरा ये किसान लगभग 31 घंटे जिंदगी और मौत से लड़ता रहा.

UP: बोरवेल में गिरे अनुज ने 31 घंटे जिंदगी से लड़ने के बाद तोड़ा दम
बोरवेल मे गिरा ये किसान लगभग 31 घंटे जिंदगी और मौत से लड़ता रहा.

सीतापुर: सीतापुर के पट्टी गांव में सोमवार 24 फरवरी की शाम अचानक बोरवेल की मिट्टी धंस गई जिसमें करीब 40 फीट नीचे पाइप खोल रहा एक अनुज नाम का किसान मिट्टी में दब गया था. बोरवेल मे गिरा ये किसान लगभग 31 घंटे जिंदगी और मौत से लड़ता रहा. लेकिन आखिरकार इस संघर्ष में वो जिंदगी की जंग हार गया.

मंगलवार देर रात उसे बोरवेल से बाहर निकाला गया, जिसके बाद पुलिस ने उसे जिला अस्पताल पहुंचाया जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया.अनुज की मौत से परिवार के साथ -साथ गांव वाले भी सदमें में हैं.

31 घंटो तक SDRF के जवानो के साथ-साथ पुलिस और ग्रामीणो के द्वारा चलाया जा रहा सयुक्त अभियान चलाया गया.  अनुज को बाहर निकालते ही SDRF के जवान उसे आनन-फानन मे लेकर भागे और कुछ ही दूरी पर खड़ी एम्बुलेंश मे रख कर उसे जिला मुख्यालय के लिये रवाना किया. जहां उसे मृत घोषित किया. 

लगभग 31घंटे तक चले इस रेस्क्यू अभियान के दौरान जिला प्रशासन की बड़ी  लापरवाही देखने को मिली. जिसमे SDRF के जवान अभियान के शुरू होने से लेकर खत्म होने तक पोकलैंड मशीन की मांग करते रहे लेकिन प्रशासन ने नहीं सुनी. प्रशासन की इस लापरवाही से अनुज के परिवार के साथ-साथ ग्रामीण भी आक्रोशीत हैं. आज पोस्ट मार्टम के बाद अनुज का अंतिम संस्कार किया गया.