मेरठ में छेड़छाड़ का विरोध करने पर सेना के जवान की पिटाई, मौत

उत्तर प्रदेश के मेरठ जिले के थाना टीपी नगर क्षेत्र में सेना का एक जवान एक युवती की इज्जत बचाने के लिए जान पर खेल गया। जिला पुलिस प्रवक्ता ने शनिवार को बताया कि मेरठ में सेना के 416 इंजीनियरिंग ब्रिगेड में लांसनायक पर तैनात वेदमित्र चौधरी (35) गुरुवार को डेयरी से दूध लेने गये थे। रास्ते में कुछ युवकों ने डेयरी मालिक की बेटी से छेड़छाड़ शुरू कर दी। डेयरी मालिक के बेटे ने इसका विरोध किया तो दोनों पक्षों में कहासुनी होने लगी। वेदमित्र छेड़छाड़ करने वालों से भिड़ गए और आकाश सैनी नामक युवक की पिटाई कर दी।

मेरठ में छेड़छाड़ का विरोध करने पर सेना के जवान की पिटाई, मौत

मेरठ : उत्तर प्रदेश के मेरठ जिले के थाना टीपी नगर क्षेत्र में सेना का एक जवान एक युवती की इज्जत बचाने के लिए जान पर खेल गया। जिला पुलिस प्रवक्ता ने शनिवार को बताया कि मेरठ में सेना के 416 इंजीनियरिंग ब्रिगेड में लांसनायक पर तैनात वेदमित्र चौधरी (35) गुरुवार को डेयरी से दूध लेने गये थे। रास्ते में कुछ युवकों ने डेयरी मालिक की बेटी से छेड़छाड़ शुरू कर दी। डेयरी मालिक के बेटे ने इसका विरोध किया तो दोनों पक्षों में कहासुनी होने लगी। वेदमित्र छेड़छाड़ करने वालों से भिड़ गए और आकाश सैनी नामक युवक की पिटाई कर दी।

बाद में सैनी के साथ लाठी-डंडों से लैस युवकों ने वेदमित्र को जमीन पर गिराकर उनकी पिटाई की। बुरी तरह जख्मी वेदमित्र को डेयरी संचालक और इलाके के लोगों ने आर्मी अस्पताल में भर्ती कराया जहां पर शुक्रवार देर रात वेदमित्र ने दम तोड़ दिया।

एसएसपी दिनेश चंद्र दूबे ने शनिवार को बताया कि घटना के संबंध में पुलिस ने तीन आरोपियों आकाश सैनी, संजू और सतीश सैनी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। शेष आरोपियों का पता लगाकर उनकी गिरफ्तारी के प्रयास किये जा रहे हैं।

इस घटना पर सब एरिया कर्नल जीएस राजीव कुमार की ओर से कहा गया है कि जवान वेदमित्र ने बहादुरी का परिचय देते हुए भारतीय नागरिक का कर्तव्य निभाया और अपराधी प्रवत्ति के लोगों से एक युवती की इज्जत बटाई है। फौज की परंपरा में यह सबसे बड़ी कुरबानी है, जिसे वेदमित्र ने कायम रखा है।