अतीक अहमद ने जेल में बुलाकर कारोबारी को पीटा, बाहुबली को बचाने के लिए हटाए गए CCTV फुटेज

देवरिया के डीएम अमित किशोर और एसपी एन कोलांची के नेतृत्व में करीब 200 से अधिक सुरक्षाकर्मियों ने जेल में छापेमारी की. छापेमारी की कार्रवाई दो घंटे से अधिक समय तक चली.

अतीक अहमद ने जेल में बुलाकर कारोबारी को पीटा, बाहुबली को बचाने के लिए हटाए गए CCTV फुटेज
अतीक अहमद पूर्व सांसद हैं और कई गंभीर मामलोंं में आरोपी हैं.

लखनऊ/देवरिया: पूर्व सांसद और बाहुबली नेता अतीक अहमद देवरिया जेल में हैं. उनपर आरोप है कि उन्होंने जेल में एक रियल स्टेट व्यापारी को बुलाकर पीटा और रंगदारी की मांग की. इस मामले में एफआईआर दर्ज होने के बाद जब देवरिया जेल पर सवाल उठने लगे तो आनन-फानन में रविवार देर रात रात जिला प्रशासन ने जेल में बड़े पैमाने पर छापेमारी की. देवरिया के डीएम अमित किशोर और एसपी एन कोलांची के नेतृत्व में करीब 200 से अधिक सुरक्षाकर्मियों ने जेल में छापेमारी की. छापेमारी की कार्रवाई दो घंटे से अधिक समय तक चली.

दरअसल, लखनऊ के रहने वाले रियल स्टेट कारोबारी मोहित जायसवाल ने अतीक अहमद पर फर्जी तरीके से फर्म अपने नाम कराने और देवरिया जेल में बुलाकर पीटने का आरोप लगाया है. आरोप है कि अतीक जेल से ही अपनी दबंगई चला रहा है.

देवरिया के डीएम अमित किशोर ने बताया कि जेल मे जो सीसीटीवी कैमरा लगा है उसकी रिकॉर्डिंग में छेड़छाड़ हुई है. कुछ समय की रिकॉर्डिंग भी गायब है, जिसकी जांच के लिए जिला प्रशासन की तरफ से तीन सदस्यीय टीम को गठित किया गया है, जो आज शाम तक इस पूरे मामले पर रिपोर्ट देगी.

रविवार देर रात में दर्जनों गाड़ियों का काफिला जिला कारागार देवरिया पर पहुंचा. इन गाड़ियों में डीएम, एसपी के अलावा सभी सर्किल के सीओ और एसडीएम सदर समेत विभिन्न प्रशासनिक अधिकारी थे. इनके साथ ही 28 गाड़ियों से करीब दो सौ सुरक्षाकर्मी भी पहुंचे. सभी ने मिलकर दो घंटे से अधिक का समय जेल मे छापेमारी की. छापेमारी के दौरान जिला अस्पताल के सीएमएस के नेतृत्व में 6 सदस्यीय चिकित्सकों की टीम भी मौजूद थी, जिसने पूर्व सासंद अतीक अहमद के स्वास्थ की जांच की. इस जांच में पाया गया कि अतीक अहमद पूरी तरह से फिट हैं.

फिलहाल, पूरे मामले की जांच रिपोर्ट सोमवार को कारागार विभाग यूपी गृह विभाग को सौंपेंगे, जिससे पहले रविवार देर रात देवरिया जेल में छापेमारी की गयी.