close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

अयोध्या पर फैसले से पहले उत्तर प्रदेश छावनी में तब्दील, पूरे देश में अलर्ट

अयोध्या पर शनिवार सुबह साढ़े दस बजे आने वाले फैसले के चलते देशभर में अलर्ट है.  उत्तर प्रदेश को पूरी तरह छावनी में तब्दील कर दिया गया है.  

अयोध्या पर फैसले से पहले उत्तर प्रदेश छावनी में तब्दील, पूरे देश में अलर्ट
.(फाइल फोटो)

नई दिल्ली: अयोध्या पर शनिवार सुबह साढ़े दस बजे आने वाले फैसले के चलते देशभर में अलर्ट है. राम मंदिर पर फैसले को देखते हुए दिल्ली पुलिस हाई अलर्ट पर है. अभी कुछ देर पहले पूरी दिल्ली पुलिस को वायरलैस से मैसेज दिया गया है की जो स्टाफ छुट्टी पर है वो अपने-अपने थाने में रिपोर्ट करें. और सब स्टाफ प्रजेंट रहे. और उसी के साथ सभी SHO को बोला गया है की इलाके में सभी धार्मिक स्थल पर निहरानी रखेंगे. स्टाफ डिप्लॉय किया जाएगा. सब अलर्ट पर रहेगें.

उत्तर प्रदेश को पूरी तरह छावनी में तब्दील कर दिया गया है.  हर जिले में भारी पुलिस फोर्स तैनात है.  केंद्र ने उत्तर प्रदेश की मदद के लिए चार हजार अर्धसैनिक बल भेजे हैं. सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर गृह मंत्रालय ने 40 कंपनी अतिरिक्त सुरक्षा बल उत्तर प्रदेश को उपलब्ध कराए हैं.  उत्तर प्रदेश में तत्काल प्रभाव से धारा 144 लागू कर दी गई है.  उत्तर प्रदेश के लखनऊ, वाराणसी, कानपुर, अलीगढ़, बरेली, मुरादाबाद, रामपुर आदि संवेदनशील जिलों में अतिरिक्त सुरक्षा बलों की तैनाती है. 

शासन के निर्देश पर कमिश्नर और डीआईजी को संवेदनशील क्षेत्रों में नाइट कैंप करने को कहा गया है.  अयोध्या की तरफ जाने वाले रास्तों को सील कर दिया गया है.  अयोध्या पर सुरक्षा व्यवस्था ऐसी है कि परिंदा भी न पर मार सके. 

फैसले को जीत-हार से न जोड़ें : प्रधानमंत्री
अयोध्या पर फैसले से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सभी से सद्भावना की महान परंपरा को मजबूत करने की अपील की है.  प्रधानमंत्री मोदी ने शुक्रवार को ट्वीट कर कहा, "अयोध्या पर सुप्रीम कोर्ट का जो भी फैसला आएगा, वो किसी की हार-जीत नहीं होगा. देशवासियों से मेरी अपील है कि हम सब की यह प्राथमिकता रहे कि ये फैसला भारत की शांति, एकता और सद्भावना की महान परंपरा को और बल दे. "

अयोध्या नगरी की सुरक्षा व्यवस्था चाक-चौबंद 
अयोध्या विवाद पर फैसले और परिक्रमा को देखते हुए अयोध्या नगरी की सुरक्षा व्यवस्था चाक चौबंद है. रेलवे और बस स्टेशनों पर यात्रियों की लगातार जांच पड़ताल की जा रही है. अयोध्या पर फैसला आने और आतंकी साजिश के चलते सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं. होटलों और धर्मशालाओं में मौजूद लोगों के पते और पहचान की जांच की जा रही है.

साथ ही नए सीसीटीवी कैमरें लगाने का आदेश भी दिया गया है. अयोध्या विवाद पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले से पहले अयोध्या में आतंकी साजिश का खुलासा हुआ है. खुफिया एजेंसियों ने अयोध्या में आतंकी हमले की आशंका जताई है जिसे देखते हुए यूपी एटीएस को हाईअलर्ट पर रखा गया है. साथ ही भारत-नेपाल सीमा पर भी पेट्रोलिंग बढ़ा दी गई है. 

गृह मंत्रालय ने सभी राज्यों को अलर्ट जारी किया
अयोध्या मामले (Ayodhya case) में आने वाले फैसले को लेकर गुरुवार को सीएम योगी आदित्यनाथ ने बैठक की. सीएम योगी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के ज़रिये कानून व्यवस्था पर जिला अधिकारियों से बातचीत की. अयोध्या विवाद पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने से पहले गृह मंत्रालय ने सभी राज्यों को अलर्ट जारी किया है.

गृह मंत्रालय ने राज्यों को सुरक्षा व्यवस्था पर नजर रखने की अपील की है.  साथ ही अयोध्या में कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए 40  हज़ार अतिरिक्त जवानों को रवाना किया गया है. अयोध्या विवाद पर अगले हफ्ते फैसला आ सकता है.उससे पहले किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए  अयोध्या में 10 अस्थायी जेल बनाई गई हैं. अस्थाई जेल बनाने के लिए अलग-अलग इलाकों में आठ विद्यालयों को चुना गया है.