अयोध्‍या केस: यदि सुनवाई आज होती है पूरी तो ऑर्डर भी कर लिया जाएगा रिजर्व

CJI ने आज बहस के लिए हिंदू पक्ष के वकील सीएस वैद्यानाथन को 45 मिनट का समय दिया है. मुस्लिम पक्ष को एक घंटे का समय दिया गया है. इसके साथ ही 45 मिनट के चार स्‍लॉट बाकी पक्षकारों को दिया जाएगा.

अयोध्‍या केस: यदि सुनवाई आज होती है पूरी तो ऑर्डर भी कर लिया जाएगा रिजर्व

नई दिल्‍ली: अयोध्‍या केस (Ayodhya Case) की बुधवार को 40वें दिन की सुनवाई के साथ ही 16 अक्‍टूबर को जिरह पूरी हो सकती है. ऐसा इसलिए क्‍योंकि बुधवार को सुप्रीम कोर्ट में हिन्दू और मुस्लिम पक्ष की जिरह का आखिरी दिन है. मोल्डिंग ऑफ रिलीफ पर भी आज ही बहस हो सकती है. इसलिए सुनवाई आज ही पूरी हो सकती है. सुनवाई पूरी होने की स्थिति में ऑर्डर भी आज ही रिज़र्व कर लिया जाएगा.

मंगलवार को सुनवाई के दौरान चीफ जस्टिस (CJI) ने 16 अक्‍टूबर को सुनवाई पूरी होने के संकेत दिए थे. CJI ने आज बहस के लिए हिंदू पक्ष के वकील सीएस वैद्यानाथन को 45 मिनट का समय दिया है. मुस्लिम पक्ष को एक घंटे का समय दिया गया है. इसके साथ ही 45 मिनट के चार स्‍लॉट बाकी पक्षकारों को दिया जाएगा.

अयोध्या में राम मंदिर का विध्वंस कर मस्जिद का निर्माण एक ऐतिहासिक ग़लती थी: हिन्‍दू पक्ष

उल्‍लेखनीय है कि हिंदू पक्ष के वकील सीएस वैद्यानाथन ने सुप्रीम कोर्ट से जिरह करने के लिए कुछ और समय मांगा. उन्‍होंने कहा कि मुझको बुधवार को जिरह के लिए 60 मिनट दे दिए. इस पर मुख्य न्यायाधीश ने कहा कि अपनी लिखित दलील कोर्ट को दे दीजिए. वैद्यानाथन ने कहा कि कोर्ट को हमको सुनना चाहिए, हम गंभीर मामलों पर दलील दे रहे हैं. इस पर मुख्य न्यायाधीश ने नाराजगी जताते हुए कहा कि ठीक है, फिर दिवाली तक सुनवाई करते हैं.

LIVE TV

39वें दिन की सुनवाई
मंगलवार को 39वें दिन सुनवाई में चीफ जस्टिस ने हिंदू पक्ष के वकील के परासरन से पूछा कि क्या आप मुस्लिम पक्ष के वकील राजीव धवन की इस दलील से सहमत हैं कि एक मस्जिद हमेशा मस्जिद ही रहेगी.

परासरन ने जवाब दिया कि मेरा कहना सिर्फ इतना भर है कि एक मंदिर हमेशा मंदिर ही रहेगा. मैं उनकी दलील पर कोई टिप्पणी नहीं करूंगा क्योंकि मैं इस्लामिक मान्यताओं का जानकार नहीं हूं.

यह वीडियो भी देखें -