अयोध्‍या: वकील की दलील, 'T-20 मैच की तरह हो रही सुनवाई', CJI ने कहा...
topStorieshindi

अयोध्‍या: वकील की दलील, 'T-20 मैच की तरह हो रही सुनवाई', CJI ने कहा...

पिछले दिनों सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने अयोध्‍या केस के सभी पक्षकारों से 18 अक्‍टूबर तक अपनी जिरह पूरी करने को कहा था.

अयोध्‍या: वकील की दलील, 'T-20 मैच की तरह हो रही सुनवाई', CJI ने कहा...

नई दिल्‍ली: पिछले दिनों सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने अयोध्‍या केस के सभी पक्षकारों से 18 अक्‍टूबर तक अपनी जिरह पूरी करने को कहा था. उस पृष्‍ठभूमि में मुस्लिम पक्ष की बहस के बाद गुरुवार शाम तक हिन्‍दू पक्ष को अपना जवाब देना है. इस कड़ी में अयोध्‍या केस (Ayodhya Case) की गुरुवार को 36वें दिन की सुनवाई में 20 मिनट के अंदर 2 हिन्दू पक्षकारों की दलील समेटने के बाद जब चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने निर्मोही अखाड़े के वकील से कहा कि आपके पास डेढ़ घंटे का समय है तो अखाड़े के वकील सुशील जैन ने कहा कि सुनवाई 20-20 मैच की तरह चल रही है. इस पर चीफ जस्टिस ने नाराजगी जताते हुए कहा कि आप कैसी बात कर रहे हैं.

दरअसल निर्मोही अखाड़े के वकील द्वारा सुनवाई की तुलना 20-20 मैच से करने पर चीफ जस्टिस ने नाराजगी जताते हुए कहा कि आप कैसी बात कर रहे हैं. हमने आपको 4-5 दिन विस्तार से सुना है फिर भी आप इस तरह की बात कर रहे हैं. सुशील जैन ने अपने बयान के लिए खेद जताया. हिन्दू पक्षकार गोपाल सिंह विशारद के वकील रंजीत कुमार को बमुश्किल 5 मिनट का समय ही मिला था जवाब देने के लिए. रामलला के वकील नरसिम्हन को 15 मिनट का समय मिला था...

अयोध्‍या केस: 'खुदाई में मिली कमल की आकृति...वह संरचना मंदिर ही थी'

रामललला विराजमान के वकील पी नरसिम्हा ने स्कंद पुराण का हवाला देते हुए कहा कि स्कंद पुराण में भी श्रीरामजन्म स्थान का जिक्र है और हिंदुओ का ये विश्वास रहा है कि यहां दर्शन से मोक्ष की प्राप्ति होती है. पुरातत्व विभाग के सबूत भी हमारे विश्वास की ही पुष्टि करते है. इसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने सुशील जैन से पूछा कि उनको अपनी दलील पूरी करने में कितना समय लगेगा? जैन ने कहा कि मैं कोर्ट का एक मिनट भी बर्बाद नही करूंगा. जल्द से जल्द अपनी बात रखूंगा. निर्मोही अखाड़ा के वकील ने कहा कि वी आर वेरी पुअर पार्टी इन दिस केस. मैं जानता हूं कि आपके पास फैसला लिखने का समय नहीं लेकिन मेरी बात सुने बिना आपका फैसला अधूरा रहेगा, क्योंकि मेरा पूरा केस कब्ज़े पर आधारित है. अयोध्या मामले (Ayodhya Case) को लेकर सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में 36वें दिन की सुनवाई में हिन्‍दू पक्षों को आज अपनी जिरह पूरी करनी है.

 

Trending news