अयोध्या: हिंदू बहुल गांव में इकलौता मुस्लिम परिवार, लोगों ने चुनकर बनाया हाफिज को प्रधान

जानकारी के मुताबिक राजापुर में 600 मतदाता हैं. इनमें से कुल 27 ही मुस्लिम वोटर्स हैं. सभी 27 लोग हाफिज के ही परिवार से ताल्लुक रखते हैं. ऐसे में 200 वोटों से जीतना हाफिज के लिए गर्व की बात है. 

अयोध्या: हिंदू बहुल गांव में इकलौता मुस्लिम परिवार, लोगों ने चुनकर बनाया हाफिज को प्रधान

अयोध्या: रामनगरी ने पंचायत चुनाव में हिंदू-मुस्लिम भाईचारे की मिसाल पेश की है. अयोध्या में आमजन ने स्वस्थ लोकतंत्र बनाते हुए एक मुस्लिन प्रत्याशी को प्रधान बनाया है. मुस्लिम प्रधान हाफिज अजीमुद्दीन हिंदू बाहुल्य इलाके के लोगों द्वारा चुने गए हैं. हाफिज ने 200 वोट पाकर ये जीत हासिल की है. राजापुर गांव के लोगों का कहना है कि उन्हें हाफिज से काफी उम्मीदें हैं कि वह गांव का विकास करेंगे. बताया जा रहा है कि हाफिज अजीमुद्दीन का परिवार गांव का इकलौता मुस्लिम परिवार है.

बेरहम महामारी! घर में बची 2 मासूम बच्चियां, बाकी पूरे परिवार की कोरोना से मौत

पेशे से किसान हैं हाफिज
जानकारी के मुताबिक राजापुर में 600 मतदाता हैं. इनमें से कुल 27 ही मुस्लिम वोटर्स हैं. सभी 27 लोग हाफिज के ही परिवार से ताल्लुक रखते हैं. ऐसे में 200 वोटों से जीतना हाफिज के लिए गर्व की बात है. उनका कहना है कि प्रधान बनना उनके लिए ईदी जैसा है. हाफिज कहते हैं कि अब लोगों की उम्मीद पूरा करना अब उनका फर्ज है. बताया जा रहा है कि हाफिज अजीमुद्दीन पेशे से किसान हैं. उन्होंने मदरसे से आलिम और हाफिज की डिग्री ली है. इसके अलावा, वह 10 साल तक एक मदरसे में शिक्षक भी रहे हैं. अब वह परिवार के साथ गांव में ही खेती करते हैं.

बदायूं: मुस्लिम धर्मगुरु के जनाजे में पहुंचे 20 हजार लोग, पुलिस भी नजर आई बेबस

"गांव के लोगों का आभारी हूं"
राजापुर में हिंदू वोटर्स के समर्थन ने हाफिज अजीमुद्दीन को जीत दिलाई है. अजीमुद्दीन ने मीडिया को बताया है कि गांव के लोगों का विश्वास देखकर उनकी आंखें भर आई हैं. वह इस विश्वास के लिए रामपुर के लोगों के आभारी हैं. गांववालों का कहना है कि इस बार धर्म पर नहीं, बल्कि प्रत्याशी के हुनर को देखकर वोट डाला गया है. मुस्लिम प्रधान चुनकर ग्रामीणों ने यह संदेश दिया है कि सभी धर्मों का समान रूप से सम्मान करना चाहिए.

WATCH LIVE TV