close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

अयोध्या में चार पहिया वाहनों के प्रवेश पर रोक, फैसले के बाद जश्न या प्रदर्शन की इजाजत नहीं

अयोध्या की सुरक्षा में 60 कंपनी पैरामिलिट्री फोर्स, पीएसी, आरएएफ, 1200 सिपाही, 250 सब इंस्पेक्टर, 20 डिप्टी एसपी, 10 ड्रोन, 35 सीसीटीवी कैमरे लगे हैं. अयोध्या की सीमाएं बैरिकेट्स कर सील कर दी गई है. 

अयोध्या में चार पहिया वाहनों के प्रवेश पर रोक, फैसले के बाद जश्न या प्रदर्शन की इजाजत नहीं
जिला प्रशासन सुरक्षा में किसी भी तरह की कोई कोताही नहीं बरत रहा है.

अयोध्या: अयोध्या (Ayodhya) की सुरक्षा एडीजी अभियोजन आशुतोष पांडे को दिया गया है. एडीजी आशुतोष पांडे को अयोध्या का नोडल अधिकारी बनाया गया है. सुबह से ही एडीजी आशुतोष पांडे अयोध्या के संवेदनशील स्थलों का निरीक्षण कर रहे हैं. थोड़ी देर में ही सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) का अयोध्या विवाद (Ayodhya case) पर फैसला आने वाला है. ऐसे में जिला प्रशासन सुरक्षा में किसी भी तरह की कोई कोताही बरतने की कोशिश नहीं कर रहा है. 

अयोध्या की सुरक्षा में 60 कंपनी पैरामिलिट्री फोर्स, पीएसी, आरएएफ, 1200 सिपाही, 250 सब इंस्पेक्टर, 20 डिप्टी एसपी, 10 ड्रोन, 35 सीसीटीवी कैमरे लगे हैं. अयोध्या की सीमाएं बैरिकेट्स कर सील कर दी गई है. चार पहिया, दो पहिया वाहनों को अंदर नहीं आने दिया जा रहा है. 

वीडियो देखें

अयोध्या मठ मंदिरों में जो श्रद्धालु रह गए थे उन्हें महंत-संतों के माध्यम से अपने गंतव्य तक भेजने की बात कही जा रही है. हालांकि एडीजी अभियोजन आशुतोष पांडे का कहना है कि अयोध्या में जो श्रद्धालु है उनको किसी को कोई दिक्कत नहीं है. 

श्रीरामलला और अन्य मंदिरों में दर्शन पूजन-पाठ हो रहा है. अयोध्या की सुरक्षा में पर्याप्त मात्रा में फोर्स लगाई गई है. सोशल मीडिया पर निगरानी रखी जा रही है और एडीजी आशुतोष पांडे ने अपील की है की अफवाह पर ध्यान नहीं दिया जाए. उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट का जो भी निर्णय उसका सम्मान करें और कोई प्रतिक्रिया कहीं भी व्यक्त नहीं करें.