close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

अयोध्या दीपोत्सव के राजकीय मेला घोषित होने पर इकबाल अंसारी ने कही ये बात

अयोध्या दीपोत्सव को राजकीय मेला घोषित करने पर संतों ने भी खुशी जताई है. श्री रामलला के मुख्य पुजारी आचार्य सत्येंद्र दास ने भी योगी सरकार के इस फैसले का स्वागत किया है.

अयोध्या दीपोत्सव के राजकीय मेला घोषित होने पर इकबाल अंसारी ने कही ये बात
अयोध्या दीपोत्सव से पहले सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लेने अयोध्या के नोडल अधिकारी एडीजी जोन एसएन सबत ने थाना रौनाही व कैंट का निरीक्षण किया.

अयोध्या: उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने अयोध्या दीपोत्सव को राजकीय मेला घोषित करने का फैसला लिया है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के इस फैसले के बाद बाबरी मस्जिद पक्षकार इकबाल अंसारी ने बड़ा बयान दिया है. इकबाल अंसारी ने कहा कि दीपोत्सव को राजकीय मेले का दर्जा देना अच्छी बात है. मंदिरों-घाटों में सरकार दीये जलाएगी, ये खुशी की बात है. उन्होंने कहा कि दीपोत्सव के चलते अयोध्या को पूरी दुनिया के लोग देखेंगे. अयोध्या का विकास होगा. उन्होंने हिन्दू-मुस्लिम सभी की ओर से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को धन्यवाद दिया. 

वहीं, अयोध्या दीपोत्सव को राजकीय मेला घोषित करने पर संतों ने भी खुशी जताई है. श्री रामलला के मुख्य पुजारी आचार्य सत्येंद्र दास ने भी योगी सरकार के इस फैसले का स्वागत किया है. आचार्य सत्येंद्र दास का कहना है कि दीपोत्सव के राजकीय मेला घोषित होने से सभी आवश्यकता की पूर्ति होगी. भव्यता-दिव्यता बढ़ेगी. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का निर्णय स्वागत योग्य है और विश्व के लोग दीपोत्सव को देखेंगे.

वहीं, अयोध्या दीपोत्सव से पहले सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लेने अयोध्या के नोडल अधिकारी एडीजी जोन एसएन सबत ने थाना रौनाही व कैंट का निरीक्षण किया. एडीजी जोन ने नियावा में दोनों समुदायों के लोगों के साथ जन चौपाल लगा कर वार्ता की. एडीजी जोन ने कहा कि दीपोत्सव व अयोध्या मामले पर संभावित फैसले को लेकर सुरक्षा के विशेष प्रबंध किए गए हैं. अतिरिक्त पुलिस बल की तैनाती की गई है.

एडीजी जोन ने कहा कि अयोध्या को 7 जोन व 14 सेक्टर में बांटा गया है. पुलिस अधिकारियों की तैनाती की गई है, 500 अतिरिक्त बल आ चुके हैं. 8 कंपनी फोर्स और आ रही है. बता दें कि योगी सरकार ने मंगलवार को कैबिनेट बैठक में 13 प्रस्तावों को मंजूरी दी. इसमें अयोध्या में दीपोत्सव मेला को राज्य मेला का दर्जा तथा फिल्म सांड की आंख को टैक्स फ्री करना भी शामिल है.