मनाही के बावजूद खेला गया बग्वाल, रोकते रह गए नायब तहसीलदार लेकिन जमकर चले पत्थर

देवीधुरा मां बारही धाम में खेली जाने वाली ऐतिहासिक बग्वाल को कोरोना के चलते आयोजित नहीं करने का फैसला लिया गया था. 

मनाही के बावजूद खेला गया बग्वाल, रोकते रह गए नायब तहसीलदार लेकिन जमकर चले पत्थर
बग्वाल मेले की पुरानी तस्वीर.

ललित मोहन भट्ट/चंपावत: उत्तराखंड के चंपावत में कोरोना के मद्देनजर जिला प्रशासन और मंदिर कमेटी की मनाही के बावजूद आज बग्वाल मेला खेला गया. प्रशासन के लाख मना करने के बावजूद भी करीब 4 मिनट के लिए ही सही लेकिन बग्वाली वीर कहे जाने वालों ने कोरोना को भूल बग्वाल खेली. एक दूसरे पर पत्थर फेंके जाने वाले इस आयोजन में 2 लोगों को मामूली चोट भी आई.

4 मिनट के लिए खेला गया बग्वाल
देवीधुरा मां बारही धाम में खेली जाने वाली ऐतिहासिक बग्वाल को कोरोना के चलते आयोजित नहीं करने का फैसला लिया गया था. सिर्फ चारों खामों के 11 लोगों को परिक्रमा करने की इजाजत थी. लेकिन धीरे-धीरे भारी संख्या में लोग जुटे और ठीक 11 बजकर 27 मिनट से लेकर 11 बजकर 31 मिनट तक बग्वाल खेली गई, इस दौरान मंदिर के पीठ आचार्य घंटी और शंख बजाते रहे. वहीं जिला प्रशासन की ओर से मंच पर मौजूद नायब तहसीलदार सचिन कुमार बग्वालियों को रोकने का प्रयास ही करते रहे गए. प्रथा के अनुसार लोगों के एक दूसरे पर जमकर पत्थर के साथ-साथ नाशपाती बरसाए.

बताया जा रहा है कि मंदिर की छोर से लमगढ़िया और गहड़वाल खाम के बग्वाली थे जबकि दूसरी तरफ चम्याल और वालिक खाम के लोग थे. सबसे पहले वालिक खाम की ओर से गहड़वाल खाम पर नाशपाती फेंके गए और फिर दोनों तरफ से जमकर नाशपाती-पत्थर चले.

ये भी पढ़ें: उत्तराखंड: कोरोना के बढ़ते केसों और घटते रिकवरी रेट ने बढ़ाई चिंता, सामने आए 200 से ज्यादा नए मरीज

तहसीलदार खिलाफ मंदिर कमेटी लाई निंदा प्रस्ताव
उधर, मंच पर चढ़कर बग्वाल को रुकवाने की कोशिश करने वाले नायब तहसीलदार सचिन कुमार के खिलाफ मंदिर कमेटी निंदा प्रस्ताव ले आई है. भीमताल विधायक राम सिंह कैड़ा ने भी आरोप लगाया कि नायब तहसीलदार सचिन कुमार मंच पर जूते पहनकर चढ़ गए और पीठाचार्य के हाथ से माइक छीना, जबकि बग्वाल बेहद शांतिपूर्ण तरीके से नियमों का पालन करते हुए हो रहा था.

वहीं इस पूरे मामले पर एसडीम आरती गौतम ने बताया कि मंदिर कमेटी और चार खाम के लोगों ने नायब तहसीलदार के तबादले की मांग की है, जिसकी जांच की जाएगी. वहीं मामले को फिलहाल जिलाधिकारी के संज्ञान में लाया गया है.

WATCH LIVE TV