close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बलरामपुर: SP साहब ने जारी किया फरमान, अंग्रेजी में एप्लिकेशन नहीं तो छुट्टी नहीं

Balrampur: एसपी देवरंजन वर्मा ने सिपाहियों से लेकर अधिकारियों तक को अंग्रेजी सिखाने का जिम्मा उठाया है और बकायदा इसके लिए वर्कशॉप, डिक्शनरी और अंग्रेजी अखबारों का सहारा लिया जा रहा है.

 बलरामपुर: SP साहब ने जारी किया फरमान, अंग्रेजी में एप्लिकेशन नहीं तो छुट्टी नहीं
फाइल फोटो

बलरामपुर: बलरामपुर (Balrampur) के एसपी ने पुलिस महकमे को अपडेट करने के लिए एक नई पहल की है. एसपी देवरंजन वर्मा ने सिपाहियों से लेकर अधिकारियों तक को अंग्रेजी (English) सिखाने का जिम्मा उठाया है और बकायदा इसके लिए वर्कशॉप, डिक्शनरी और अंग्रेजी अखबारों का सहारा लिया जा रहा है. एसपी देवरंजन वर्मा ने फरमान जारी किया है कि अब से डिपार्टमेंट छुट्टी (Leave) के लिए सिर्फ अंग्रेजी एप्लिकेशन (English Applications) ही स्वीकार किए जाएंगे.

एसपी देवरंजन वर्मा पुलिसकर्मियों को अंग्रेजी पेपर पढ़ने की सलाह दी है, क्योंकि अब छुट्टी के दिए जाने वाले प्रार्थना पत्र केवल अंग्रेजी में ही स्वीकार किए जाएंगे, जो प्रार्थना पत्र हिंदी में होंगे उन्हें स्वीकार नहीं किया जाएगा. ऐसे में अंग्रेजी पढ़ना पुलिसकर्मियों की मजबूरी बन जाएगा. पुलिसकर्मियों को अंग्रेजी का पाठ पढ़ाने के लिए पुलिस अधीक्षक सभी थानों और कोतवाली में कार्यशाला का आयोजन भी कर रहे हैं. 

पुलिसकर्मियों को आदेश दिया गया है कि पुलिसकर्मी अपने साथ डिक्शनरी और डायरी रखनी होगी, ताकि हर दिन 5 शब्द याद कर सकें. ये शब्द सिर्फ याद ही नहीं करने हैं, बल्कि इनको एक डायरी में लिखना भी होगा. ताकि कभी भूल जाने पर रीपीट किया जा सके. इतना ही नहीं एसपी ने कहा है कि सिपाहियों को आपस में बात करते समय अंग्रेजी बोलने की आदत डालनी होगी.

लाइव टीवी देखें

एसपी का कहना है कि कानूनी कार्रवाई समझने के लिए पुलिस का अंग्रेजी जानना जरूरी है जबकि कंप्यूटर चलाने के लिए भी अंग्रेजी की जरूरत पड़ती है और तो और हाईटेक अपराधियों को डील करने के लिए टेक्नॉलजी और इंग्लिश का साथ जरूरी है. एसपी का मानना है कि इस पहल से पुलिस की कार्यशैली में सुधार आएगा.