टॉयलेट रूम एक, सीटें दो, बहुत नाइंसाफी है! पंचायती राज विभाग के अफसरों का ये कैसा प्रयोग?

जिस किसी ने भी प्रधान, इंजीनियर और ब्लॉक के अधिकारियों के इस अजूबे को देखा उनकी आंखे फटी की फटी रह गई. लोगों का अब यह सोच-सोच कर सिर चकरा रहा है कि कैसे दो लोग एक साथ इस टॉयलेट का इस्तेमाल करेंगे. 

टॉयलेट रूम एक, सीटें दो, बहुत नाइंसाफी है! पंचायती राज विभाग के अफसरों का ये कैसा प्रयोग?
गांव में बने एक शौचालय में 2 टॉयलेट सीट

बस्ती: स्वच्छ भारत मिशन के तहत गांव में हर जरूरतमंद को शौचालय देने की योजना बनाई गई. जिसकी सफलता के बाद सरकार ने अब हर गांव में सामुदायिक शौचालय का निर्माण शुरू किया. इसी क्रम में बस्ती (Basti) जिले में भी शौचालय बनवाये जा रहे हैं. इसी बीच एक ऐसी तस्वीर सामने आई है, जो अजीबो-गरीब है और हास्यास्पद भी. दरअसल, यहां के एक गांव में सामुदायिक शौचालय के अंदर दो-दो सीट बनाई गई हैं. जिसकी तस्वीर भी वायरल हो रही है. ऐसे में लोगों के मन में कई सवाल उठ रहे हैं. जैसे- एक टॉयलेट में दो लोग जाएंगे तो कैसे, ये आईडिया है तो किसका ?

ये भी पढ़ें- UPPSC Recruitment 2021: RO/ARO के इतने पदों पर निकली वैकेंसी, यहां जानें आवेदन डिटेल

क्या है मामला?
मामला बस्ती (Basti) जिले के सलटौवा ब्लॉक के भिउरा गांव का है. दरअसल, भिउरा गांव में बनाए गए सामुदायिक शौचालय में एक टॉयलेट के अंदर दो सीटें लगा दी गई हैं. ये कारनामा बस्ती के जिला पंचायत राज विभाग के होनहार, इंटेलिजेंट और कुछ अलग करने की सोच रखने वाले अधिकारियों ने कर दिखाया है. जिस किसी ने भी प्रधान, इंजीनियर और ब्लॉक के अधिकारियों के इस अजूबे को देखा उनकी आंखे फटी की फटी रह गईं. लोगों का अब यह सोच-सोच कर सिर चकरा रहा है कि कैसे दो लोग एक साथ इस टॉयलेट का इस्तेमाल करेंगे या आखिर वो कौन लोग होंगे, जो ऐसा करने के लिए राजी हो जाएंगे. 

ये भी पढ़ें- समुद्र मंथन से निकला वृक्ष UP के इस जिले में है मौजूद, पर्यटन विभाग कर रहा संरक्षण

सोशल मीडिया पर वायरल हुई तस्वीर
वहीं, इस नायाब टॉयलेट की तस्वीर सामने आने के बाद यह सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रही है. लोग भी लगातार यह समझने की कोशिश कर रहे हैं कि आखिर इसका इस्तेमाल कैसे किया जाएगा?  स्वच्छ भारत मिशन के तहत 10 लाख से अधिक का बजट खपाया जा रहा है. मगर धरातल पर इस योजना का किस तरह से मजाक हो रहा इसकी तस्वीर आप खुद देख सकते हैं.

ये भी पढ़ें- ऑपरेशन के बाद बिना टांका लगाए मासूम को किया डिस्चार्ज, हुई मौत, लोगों में आक्रोश

मामले में दिए जांच के निर्देश 
वहीं, इस मामले को लेकर कांग्रेस जिला अध्यक्ष अंकुर वर्मा ने सवाल उठाया है. साथ ही मांग की है कि पूरे मामले की जांच होनी चाहिए. उनका कहना है कि स्वच्छ भारत मिशन का इससे बड़ा भ्रष्टाचार का मामला और कोई नहीं हो सकता. वहीं, कमिश्नर अनिल सागर ने इस मामले पर कहा कि वाकई में ये तस्वीर हास्यास्पद है. मगर इसमें घोर लापरवाही भी है. उन्होंने कहा कि जल्द ही जांच कर कड़ी कार्रवाई की जाएगी. 

ये भी देखें- यह बिल्ली है गजब की Gymnast, क्या आप कर पाएंगे इसके जैसे करतब?

WATCH LIVE TV