close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

अयोध्या पर फैसले से पहले लखनऊ में दिया गया 'अमन का पैगाम, हिंदुस्तानियों के नाम'

इस बैठक को संबोधित करते हुए मुस्लिम धर्मगुरू और ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड (AIMPLB) के सदस्य मौलाना खालिद रशीद फिरंगी महली ने कहा कि हम सब अयोध्या मामले पर साथ-साथ है.

अयोध्या पर फैसले से पहले लखनऊ में दिया गया 'अमन का पैगाम, हिंदुस्तानियों के नाम'

लखनऊ: अयोध्या मामले पर जल्द ही सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने का इंतजार है. इससे पहले देश भर में अमन-चैन और भाईचारा बनाए रखने की अपील की जा रही है. आज लखऊ में भी इसी मकसद के साथ तमाम धर्मों के रहनुमा एक साथ एक मंच पर बैठे और शांति व्यवस्था कायम रखने की अपील की. आज लखनऊ में  'अमन का पैगाम हिंदुस्तानियों के नाम' के लिए 'ऑल रिलिजियस लीडर मीट'  का आयोजन किया गया. बैठक का आयोजन इस्लामिक सेंटर ऑफ इंडिया ईदगाह में किया गया.

इस बैठक में मुस्लिम और हिंदू धर्मगुरुओं के अलावा जैन,क्रिश्चियन, पारसी, बौद्ध और सिख धर्म के अनुयायी भी शामिल थे. सभी ने बैठक के बाद एक सूर में अमन चैन और भाईचार बरकार रखने की अपील की.

इस बैठक को संबोधित करते हुए मुस्लिम धर्मगुरू और ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड (AIMPLB) के सदस्य मौलाना खालिद रशीद फिरंगी महली ने कहा कि हम सब अयोध्या मामले पर साथ-साथ है. देश मे सुप्रीम पावर सुप्रीम कोर्ट है और संविधान से बड़ा कुछ नही है..इसीलिए सुप्रीम कोर्ट का जो भी फैसला होगा वो सर्वमान्य होगा. इस बैठक के माध्यम से सभी देशवासियों से अपील की गई कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद कोई जश्न न मनाए और न ही धरना प्रदर्शन करें जिससे आपसी भाई-चारे में उन्माद फैले.

इस मौके पर मोजूद सभी धर्मों के रहनुमाओं ने अपनी अपनी बात रखी, सबका मानना था कि पैसला चाहें जो भी हो, सब उसे खुले दिल से स्वीकर करेंगे. इंसानियत से बड़ा कुछ नही है. जब ये फैसला आयेगा तब सारी दुनिया की नजरें हमारी उपर होंगी. हमें दुनिया को दिखाना है कि हिंदुस्तान में रहने वाला हर शख्स हिंदुस्तानी है. हमारे लिए हमारा देश सबसे रहले है. हम सब संविधान को मानने वाले है. इस बैठक में 8 मुद्दों को लेकर एक रिजुलेशन भी पास किया गया. सबी धर्मों के धर्मगुरुओं ने इसपर हस्ताक्षर भी किया.