close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

अयोध्या पर निर्णय से पहले बोले कमाल फारुकी, 'SC के फैसले का करें एहतराम'

कमाल फारुकी ने लोगों से अपील करते हुए कहा कि, 'देश की सबसे बड़ी अदालत पर सबको भरोसा करना चाहिए. सबको सुप्रीम कोर्ट के फैसले का एहतराम करना चाहिए.'

अयोध्या पर निर्णय से पहले बोले कमाल फारुकी, 'SC के फैसले का करें एहतराम'
ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड (AIMPLB) के सदस्य कमाल फारुकी

नई दिल्लीः अयोध्या मामले (Ayodhya Case) पर सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) आज सुबह मतलब 9 नवंबर को सुबह करीब 10:30  बजे फैसला सुनाने जा रहा है. पांच जजों की पीठ यह फैसला सुनाएगी. अयोध्या मामले (Ayodhya case) में 40 दिनों तक नियमित सुनवाई हुई है. चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की पीठ यह फैसला सुनाएगी. ऐसे में ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड (AIMPLB) के सदस्य कमाल फारुकी का बयान भी सामने आया है. AIMPLB के सदस्य कमाल फारुकी ने सुप्रीम कोर्ट पर भरोसा जताते हुए देश की सबसे बड़ी अदालत के फैसले का सम्मान करने की बात कही है.

कमाल फारुकी ने लोगों से अपील करते हुए कहा कि, 'देश की सबसे बड़ी अदालत पर सबको भरोसा करना चाहिए. सबको सुप्रीम कोर्ट के फैसले का एहतराम करना चाहिए. हमें पूरा भरोसा है कि कोर्ट इंसाफ करेगा और हम जनता से अपील करते हैं कि वह देश में अमन बनाए रखें.' 

अयोध्या केस: इकबाल अंसारी बोले, 'SC के फैसले के बाद हिन्दू-मुस्लिम विवाद का अंत हो जाएगा'

बता दें इससे पहले ऑल इंडिया पर्सनल लॉ बोर्ड के एक अन्य सदस्य खालित रशीद फरंगी महली का भी बयान सामने आया था, जिसमें उन्होंने अयोध्या मामले पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले को मानने की बात कहते हुए कहा था कि, 'कोर्ट का जो भी फैसला होगा वह उन्हें स्वीकार्य होगा और उन्हें यकीन है कि देशवासी भी उसे जरूर मानेंगे.'