close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बहराइच: अचानक पेड़ की फुनगी पर पूजा अर्चना करने लगे बाबा, करतब देखने उमड़ी भीड़!

बंदरिया बाबा बहराइच में पुलिस के लिये मुसीबत बने हुए हैं. 

बहराइच: अचानक पेड़ की फुनगी पर पूजा अर्चना करने लगे बाबा, करतब देखने उमड़ी भीड़!
बंदरिया बाबा पूजा करने के लिए पहले पेड़ पर चढ़ जाते हैं, फिर पेड़ पर हवन करते हैं.

राजीव शर्मा.बहराइच: खबर बहराइच से है जहां सुजौली थाना क्षेत्र के सब्जी मंडी के पास लगे पीपल के पेड़ की फुनगी पर एक बाबा अचानक पेड़ पर चढ़ गए और बैठकर पूजा अर्चना करने लगे. वहां के लोग यह सब देखकर आश्चर्य चकित हो गए. बाबा का करतब देखने के लिए दूर-दूर से लोग आने लगे. ज्यादा भीड़ हो जाने से मौके पर पुलिस को आना पड़ा और शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए कड़ी मशक्कत करनी पड़ी. बाद में पता चला कि ये बाबा चार महीने पहले बहराइच जिले के दूसरे क्षेत्र में आए थे. फिलहाल बाबा काठमाण्डू चले गए हैं.
  
बाबा वहां भी ऐसी हरकतें करते थे. इसलिए लोग इन्हें बंदरिया बाबा कहते हैं. बंदरिया बाबा पूजा करने के लिए पहले पेड़ पर चढ़ जाते हैं, फिर पेड़ पर हवन करते हैं. इनके पहले के कई वीडियो सोशल मीडिया भी ट्रेंड हुए हैं. जब इनके बारे में पता किया गया तो ये अपने आपको पीलीभीत का निवासी बताते हैं और अपनी योग साधना पेड़ों पर करते हैं. बंदरिया बाबा बहराइच में पुलिस के लिये मुसीबत बने हुए हैं. 

चार महीने पहले ऐसी हरकतों के लिए पुलिस ने बंदरिया बाबा को ऐसा करने से इनकार किया था तब ये इलाहाबाद चले गए थे लेकिन ये बहराइच में फिर वापस आ गए हैं. बाबा जिस पेड़ पर चढ़े हुए हैं, वहां अब पुलिस का पहरा है. पुलिस का कहना है जब शांति होती है तो बाबा पेड़ से नीचे आते हैं, इसलिए पब्लिक को हटाया जा रहा है जिससे ये उतर सकें.

उधर, बंदरिया बाबा का कहना है कि वह बद्री नारायण से आए हैं. अपने बारे में कहते हैं, "कोई हमें बंदरिया बाबा कहता है, कोई पत्ता बाबा कहता है, कोई नाग बाबा कहता है, कोई प्रेत बाबा कहता है, कोई भूत बाबा कहता है, ये परमात्मा जानें जो मुझे जैसा देखता है वैसा ही नाम देता है. लोग कहते हैं कि मैं पेड़ पर चादर बिछाकर रहता हूं, ये सब भगवान की माया है. ऊपरवाले की मर्जी के बगैर पत्ता नहीं हिल सकता. सब ईश्वर की माया है." 

सुजौली थानाध्यक्ष सुबोध कुमार का कहना है, "बाबा के बारे में यही जानकारी है कि ये बंदरिया बाबा हैं. अक्सर पेड़ पर चढ़ जाते हैं चमत्कारिक रूप से, काफी देर से पेड़ पर बैठे हुए हैं. इनके बारे में ये कहा गया है कि अगर अगल-बगल शांति रहेगी, लोगों की भीड़ हट जाएगी तो ये पेड़ से उतरकर चले जाते हैं." 

SP ग्रामीण रवींद्र कुमार सिंह ने बताया कि एक साधु बाबा हैं जो बंदरिया बाबा के नाम से जाने जाते हैं. पहले भी तहसील महसी क्षेत्र में आ चुके हैं. कुछ दिन गायब थे. अभी हाल ही में थाना सुजौली इलाके में एक पेड़ पर चढ़ गए. बाबा को देखने वालों की भारी भीड़ लग गई. मौके पर सुरक्षा के मद्देनजर पुलिस फोर्स को भेजा गया. पता चला है कि बाबा पेड़ से उतरकर काठमाण्डू चले गए हैं."