UP पंचायत चुनाव: मुस्लिम पति ने हिंदू पत्नी को उतारा चुनावी मैदान में, तो उठने लगे विरोध के सुर
X

UP पंचायत चुनाव: मुस्लिम पति ने हिंदू पत्नी को उतारा चुनावी मैदान में, तो उठने लगे विरोध के सुर

रेखा के SC सीट पर चुनाव लड़ने से अन्य प्रत्याशियों ने ऐतराज जाहिर किया है. हालांकि, कानून के हिसाब से रेखा चुनाव लड़ सकती हैं. क्योंकि यह सीट आरक्षित है.

UP पंचायत चुनाव: मुस्लिम पति ने हिंदू पत्नी को उतारा चुनावी मैदान में, तो उठने लगे विरोध के सुर

बिजनौर: यूपी पंचायत चुनाव में उम्मीदवार एक ओर जहां चुनाव में हिस्सा लेकर अपनी किस्मत आजमा रहे हैं. वही, कुछ लोग तिकड़म लगाकर चुनाव लड़ने में व्यस्त हैं. ऐसा ही एक मामला बिजनौर से सामने आया है. यहां कोतवाली ब्लॉक की 7 नंबर की जिला पंचायत सीट पर सबसे ज़्यादा घमासान दिखाई दे रहा है. पूरी बात क्या है आपको आगे बताते हैं...

मुस्लिम पति ने हिंदू पत्नी को मैदान में उतारा 
जिला पंचायत के चुनावों में बिजनौर की 56 सीटों पर 799 प्रत्याशी अपनी किस्मत को आजमा रहे हैं. लेकिन जनपद की एक सीट ऐसी है जहां पर एक मुस्लिम पति ने अपनी हिंदू पत्नी को मैदान में उतारा है. जिससे विरोधियों में खलबली मची हुई है. इस सीट के आरक्षित होने की वजह से इस प्रत्याशी को लेकर काफी चर्चा है. 

16 साल पहले हुई थी शादी
दरअसल, बिजनौर के कोतवाली ब्लॉक वार्ड नंबर 7 से सरफराज राईन ने अपनी हिंदू पत्नी रेखा रानी (एडवोकेट) को मैदान में उतारा है. सरफराज महाराष्ट्र के पुणे में रहकर कारोबार करते हैं. 16 साल पहले पुणे की रहने वाली रेखा ने उनसे शादी की. तब से रेखा और सरफराज साथ रह रहे हैं. दो बच्चों के माता-पिता रेखा और सरफराज एक साथ रहते हुए अपने-अपने धर्म का पालन करते हैं.

विरोधियों में घबराहट 
रेखा SC सीट पर चुनाव लड़ रही हैं. इससे अन्य प्रत्याशियों ने ऐतराज जाहिर किया है. हालांकि, कानून के हिसाब से रेखा चुनाव लड़ सकती हैं. क्योंकि यह सीट आरक्षित है. इस सीट पर एससी समाज के लोग ही कैंडिडेट हैं. रेखा को SC होने और उनके पति के मुस्लिम होने का फायदा मिल रहा है. जिसकी वजह से विरोधियों में घबराहट है. 

रेखा ने क्या कहा?
वहीं, रेखा का कहना है कि हमारा संविधान हमें अधिकार देता है कि हम भी लोकतंत्र के पर्व का हिस्सा बनें और चुनाव लड़कर क्षेत्र का विकास करें. उन्होंने कहा कि शादी के बाद उन्होंने अपना धर्म नहीं बदला है. वो हिंदू हैं. चूंकि वो एससी में आती हैं इसलिये रिज़र्व सीट से चुनाव लड़ रही हैं. उनके पति के मुस्लिम होने से उनकी जाति का स्टेटस नहीं बदलता. उधर इस सीट से चुनाव लड़ रहे अन्य उम्मीदवारों का कहना है कि रेखा ने मुस्लिम से शादी कर ली थी. इसलिये उन्हें एससी सीट पर चुनाव नहीं लड़ना चाहिये. उन्हें जनरल सीट पर चुनाव लड़ना चाहिए. 

WATCH LIVE TV

 

Trending news