close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बिजनौर: जिसे ढूंढ रही थी 21 थानों की पुलिस, उसने पुलिस को देखकर खुद को मारी गोली

21 थानों की पुलिस, आरआरएफ और ड्रोन कैमरे नजरों से छुपकर भाग रहे हत्यारे अश्वनी उर्फ जॉनी दादा ने खुदकुशी कर ली. आरोपी ने चार दिन में तीन हत्याओं को अंजाम दिया था और पुलिस इसकी तलाश में जुटी थी.

बिजनौर: जिसे ढूंढ रही थी 21 थानों की पुलिस, उसने पुलिस को देखकर खुद को मारी गोली
एक लाख का ईनामी था अश्वनी उर्फ जॉनी

बिजनौर, वसीम अख्तर: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के बिजनौर (Bijnor) पुलिस का सिरदर्द बन चुके ट्रिपल मर्डर (Triple Murder) का आरोपी अश्वनी उर्फ जॉनी दादा ने पुलिस को देखकर खुद को गोली मार ली. 21 थानों की पुलिस, आरआरएफ और ड्रोन कैमरे नजरों से छुपकर भाग रहे हत्यारे अश्वनी उर्फ जॉनी दादा ने खुदकुशी कर ली. आरोपी ने चार दिन में तीन हत्याओं को अंजाम दिया था और पुलिस इसकी तलाश में जुटी थी. पुलिस की चेकिंग के दौरान शातिर हत्यारे ने खुद को गोली मारकर अपनी जिंदगी खत्म कर ली. 

पुलिस ने बताया कि एक लाख के ईनामी अश्वनी उर्फ जॉनी को पकड़ने के लिए पुलिस टीम वाहनों की चेकिंग कर रही थी. इसी बीच अन्य पुलिस कर्मी भी बस में पहुंच गए और उस पर राइफलें तान दी और उसे समर्पण करने को कहा. इस दौरान जॉनी ने कनपटी से तमंचा सटाकर खुद को गोली मार ली. गोली लगने के बाद घायल बदमाश को इलाज के लिए जिला अस्पताल लाया गया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया.

दरअसल, 26 सितंबर को बढ़ापुर थाना क्षेत्र में मोहल्ला नौमी में रहने वाला अश्वनी उर्फ जॉनी दादा ने अपने पड़ोसी बीजेपी नेता के बेटे कृष्णा और भतीजे राहुल को दिनदहाड़े गोली मारकर हत्या कर दी थी और घटना को अंजाम देने के बाद मौके से फरार हो गया. 

लाइव टीवी देखें

फरार हत्यारे ने 30 सितंबर की शाम को स्योहारा थाना क्षेत्र के गांव दौलताबाद में एक तरफा प्यार में गोलियां बरसाकर नितिका को मौत के घाट उतारकर फरार हो गया. नितिका को गोली मारने के बाद जोनी दादा ईख के खेत मे जा घुसा. घटना की जानकारी के बाद पुलिस ने पूरे जंगल की घेराबंदी कर रखी है.