close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

देश सबल वहीं पर है जहां पर हिंदुवादी सोच के लोग ज्यादा हैंः सुरेंद्र सिंह

सुरेंद्र सिंह ने कहा कि हिंदुस्तान को हिदुत्व की विचारधारा से रंगीन बनाए रखने के लिए, भगवान ने योगी जी और मोदी जी को भेज दिया है.

देश सबल वहीं पर है जहां पर हिंदुवादी सोच के लोग ज्यादा हैंः सुरेंद्र सिंह

नई दिल्लीः अपने बयानों के चलते हमेशा सुर्खियों में रहने वाले यूपी के बलिया की बैरिया सीट से बीजेपी विधायक सुरेन्द्र सिंह ने एक और विवादित बयान दिया है. सुरेंद्र सिंह ने कहा, 'देश सबल वहीं पर है जहां पर हिंदुवादी सोच के लोग ज्यादा हैं. जहां भी मुस्लिम/ईसाई सोच के लोग अधिक हैं, वहां पर भारत के सिद्धांत और भारत की संस्कृति दुर्बल है. भारत और भारतीय पर विश्वास करनेवाले कम है'

सुरेंद्र सिंह यहीं नहीं रुके, उन्होंने आगे कहा, 'मोदी जी और योगी जी ने अवतार के रूप में भगवान ने भेज दिया है. मैं तो कह रहा हूं बार-बार. मान लीजिए देश के कायाकल्प के लिए, हिंदुस्तान को हिदुत्व की विचारधारा से रंगीन बनाए रखने के लिए, भगवान ने योगी जी और मोदी जी को भेज दिया है.'

इससे पहले 15 जुलाई को बीजेपी विधायक सुरेन्द्र सिंह ने जिला अस्पताल में नि:शुल्क सीटी स्कैन के उद्घाटन कार्यक्रम में पहुंचे थे. इस दौरान उन्होंने बरेली से बीजेपी विधायक की बेटी साक्षी को लेकर कहा कि यह निर्णय काम वासना से वशीभूत होकर लिया गया निर्णय है, जिसको कहीं से भी अच्छा नहीं कहा जा सकता है. साक्षी का निर्णय गलत है, जिसके पश्चाताप भविष्य में साक्षी को करना पड़ेगा. 

मुस्लिमों को लेकर विवादित बयान
आजम खां के बयान की 3 बच्चे पैदा करने वालों को फांसी की सजा पर विधायक सुरेन्द्र सिंह ने कहा कि मुस्लिम धर्म में बच्चे पैदा करना जानवरी प्रवृति है. इस्लाम में 50 औरत रखिए 1050 बच्चे पैदा कीजिए ये कोई परंपरा नहीं है, ये तो एक जानवरी प्रवृति है. विधायक ने कहा प्रकृति प्रदत्त 3 या 4 बच्चे उसमें कोई बात नहीं है.

बरेली के बीजेपी विधायक राजेश मिश्रा की बेटी साक्षी मिश्रा के एक दलित लड़के से शादी करने के बाद हो रही चर्चा पर यूपी के बलिया के बैरिया क्षेत्र से बीजेपी विधायक सुरेंद्र सिंह ने कहा पुत्र और पुत्री के बारे में जितना सुंदर तन चित्र मां बाप रखता है, उतना दुनिया में कोई रखने वाला नहीं है. यह कामुकता बस कोई भी बेटा हो या बेटी हो निर्णय लेती है. वह कामवासना से वशीभूत होकर उसका निर्णय कहीं से भी अच्छा नहीं कहा जा सकता. साक्षी का जो भी निर्णय है गलत है और उसका पश्चाताप भविष्य में उसको करना पड़ेगा.

'इस्लाम में 50 औरत रखना प्रवृति'
आजम खान के बयान, जिसमें उन्होंने तीन बच्चा पैदा करने पर फांसी की देने की बात की थी, पर विधायक सुरेन्द्र सिंह ने कहा कि आजम खान सिर्फ टिप्पणी करते हैं. सवाल यह है की मुस्लिम धर्म में आप जानते हैं की 50 औरत रखिए और 1050 बच्चा पैदा करिए यह कोई परंपरा नहीं है यह तो 1 जानवरी प्रवृति है. जानवरी प्रवृति भाई ठीक है, प्रकृति प्रदत्त जो भी संतान आ रहा है, 3 आ जाए चार आ जाए उसमें कोई बात नहीं है, लेकिन इस तरह का टिप्पणी करना प्रासंगिक नहीं है.