साध्वी प्रज्ञा के बाद अब BJP विधायक सुरेंद्र सिंह बोले, 'गोडसे आतंकवादी नहीं थे'

अपने विवादित बयानों को लेकर हमेशा ही सुर्खियों में रहने वाले बैरिया के विधायक सुरेंद्र सिंह ने कहा कि नाथूराम गोडसे से महात्मा गांधी की हत्या करने की भूल हुई थी.

साध्वी प्रज्ञा के बाद अब BJP विधायक सुरेंद्र सिंह बोले, 'गोडसे आतंकवादी नहीं थे'
सुरेंद्र सिंह ने कहा कि देश आजाद होने के बाद नेहरू की दुर्बल नीतियों से नाराज होकर गोडसे ने यह कदम उठाया था. (फाइल फोटो)

बलिया: बीजेपी सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर द्वारा लोकसभा में महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे को देशभक्त बताने का विवाद खत्म भी नहीं हुआ था कि इसमें एक और बीजेपी विधायक ने अपना सुर मिला लिया है. यूपी के बलिया जिले में बैरिया के विधायक सुरेंद्र सिंह ने कहा कि मैं प्रज्ञा जी की भाषा से सहमत नही हूं लेकिन, गोडसे आतंकवादी नहीं थे. उन्होंने महात्मा गांधी के लिए जो कदम उठाया वह गलत था. उनसे गलती हुई. उन्होंने जो किया देश हित के लिए ही किया. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि भारत को भी हिंदू राष्ट्र घोषित होना चाहिए था. यह नेहरू जी की कमी थी. 

अपने विवादित बयानों को लेकर हमेशा ही सुर्खियों में रहने वाले बैरिया के विधायक सुरेंद्र सिंह ने कहा कि नाथूराम गोडसे से महात्मा गांधी की हत्या करने की भूल हुई थी लेकिन, वह आतंकवादी नहीं थे. उनसे गलती हुई. उनको राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की हत्या नहीं करनी चाहिए थी. सुरेंद्र सिंह ने कहा कि देश आजाद होने के बाद नेहरू की दुर्बल नीतियों से नाराज होकर गोडसे ने यह कदम उठाया था. उन्होंने कहा कि बंटवारे के बाद पाकिस्तान मुस्लिम देश हो गया, उसी तर्ज पर भारत को भी हिंदू राष्ट्र घोषित होना चाहिए था. लेकिन, महात्मा गांधी अपनी जिद पर अड़े थे. इसी से आक्रोशित होकर नाथूराम गोडसे ने महात्मा गांधी की हत्या कर दी.

बता दें कि मध्य प्रदेश के भोपाल से भाजपा सांसद प्रज्ञा ठाकुर  एक बार फिर नाथूराम गोडसे को देशभक्त बताकर विवादों में घिर गई हैं. उन्होंने इस बार लोकसभा (Lok Sabha) में बहस के दौरान गोडसे को देशभक्त बता दिया था. इस पर हंगामा हुआ और लोकसभा की कार्यवाही से उनके बयान को हटा दिया गया था.
 
यह पहली बार नहीं है जब साध्वी प्रज्ञा का नाथूराम गोडसे को लेकर इस तरह का बयान सामने आया हो, इससे पहले लोकसभा चुनाव के दौरान भी साध्वी प्रज्ञा ने नाथूराम गोडसे को देशभक्त बताकर विवाद पैदा किया था. उस दौरान पार्टी ने उनसे स्पष्टीकरण भी मांगा था.