जूता कांड: घटना के बाद बीजेपी सांसद शरद त्रिपाठी बोले - जो कुछ भी हुआ, उसके लिए खेद है

बीजेपी सांसद शरद त्रिपाठी और मेंहदावल से बीजेपी विधायक राकेश सिंह बघेल के बीच बुधवार शाम सार्वजनिक रूप से मारपीट हुई और इसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया. 

जूता कांड: घटना के बाद बीजेपी सांसद शरद त्रिपाठी बोले - जो कुछ भी हुआ, उसके लिए खेद है
घटना के बाद, अब इस पूरे मसले पर सांसद शरद त्रिपाठी की प्रतिक्रिया सामने आई है.

संत कबीरनगर: बीजेपी सांसद शरद त्रिपाठी और मेंहदावल से बीजेपी विधायक राकेश सिंह बघेल के बीच बुधवार शाम सार्वजनिक रूप से मारपीट हुई और इसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया. कलेक्ट्रेट सभागार में जिला योजना समिति की बैठक चल रही थी. जिले के प्रभारी मंत्री आशुतोष टंडन मौजूद थे. इसी बीच संत कबीरनगर से बीजेपी सांसद त्रिपाठी और मेंहदावल से बीजेपी विधायक बघेल के बीच सड़क निर्माण का श्रेय लेने को लेकर कहासुनी हो गई.

मामला कहासुनी तक ही सीमित नहीं रहा. दोनों आपस में भिड़ गए. एक ने दूसरे को मारने के लिए जूता निकाल लिया. प्रशासनिक एवं पुलिस अधिकारियों ने किसी तरह बीच बचाव कर मामला शांत कराया. घटना के बाद, अब इस पूरे मसले पर सांसद शरद त्रिपाठी की प्रतिक्रिया सामने आई है. सांसद त्रिपाठी ने कहा, "घटना के लिए खेद है और मुझे बुरा लग रहा है. जो कुछ भी हुआ, वह मेरे सामान्य व्यवहार से अलग था. मुझे पार्टी प्रदेशाध्यक्ष ने मेरा पक्ष रखने के लिए बुलाया है."

शिला पटिटका से सांसद का नाम गायब था
सूत्रों के मुताबिक जिले के मेंहदावल क्षेत्र में सडक निर्माण की शिला पटिटका से सांसद का नाम गायब था, जिसे लेकर बवाल हुआ. बीजेपी के जिलाध्यक्ष सेत भान राय से जब इस बाबत पूछा गया तो उन्होंने बताया कि मंत्री ने उनसे फोन पर बात की और कहासुनी के बारे में बताया.

उत्तर प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष महेन्द्र नाथ पाण्डेय ने मामले को गंभीरता से लेकर दोनों को लखनऊ तलब किया है. पाण्डेय ने संतकबीर नगर में मारपीट की घटना को 'अशोभनीय एवं अमर्यादित आचरण' करार दिया. प्रदेश अध्यक्ष ने मामले का गंभीरता से संज्ञान लेते हुए सांसद शरद त्रिपाठी एवं विधायक राकेश सिंह बघेल को तत्काल लखनऊ बुलाया है.