बुलंदशहर पुलिस ड्रोन उड़ाती रही, पुलिस चौकी के पीछे गड्ढे में गड़ा मिला लापता वकील का शव

पुलिस चौकी के ठीक पीछे एक मार्बल टाइल्स के गोदाम में  पुलिस ने तलाशी शुरू की तो लापता अधिवक्ता धर्मेंद्र चौधरी का शव खुदाई के दौरान 6 फीट गहरे टैंक में मिला. अधिवक्ता पर धारदार हथियार से वार किए गए थे और उनके शव की पहचान मिटाने के लिए आग लगा दी गई थी. 

बुलंदशहर पुलिस ड्रोन उड़ाती रही, पुलिस चौकी के पीछे गड्ढे में गड़ा मिला लापता वकील का शव
प्रतीकात्मक फोटो

बुलंदशहर: उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर (Bulandshahr) में 25 जुलाई से लापता एक वकील की भी आखिरकार हत्या (Murder) हो गई है. पुलिस ने लापता वकील का शव बरामद किया है. कोतवाली खुर्जा क्षेत्र से लापता वकील धर्मेंद्र चौधरी (Advocate Dharmendra Chaudhary ) का शव (Deadbody) पुलिस ने बरामद कर लिया है. मामले में पुलिस ने 3 लोगों को हिरासत में भी ले लिया है. 

हत्या कर शव को पुलिस चौकी के पीछे गाड़ा गया 

अधिवक्ता धर्मेंद्र चौधरी की हत्या इतनी खौफनाक तरीके से की गई है कि इसे देखकर पुलिस भी दंग रह गई. 31 तारीख की देर रात करीब 12:00 बजे बुलंदशहर के खुर्जा इलाके के पॉश एरिया कबाड़ी बाजार में शव बरामद हुआ. पुलिस चौकी के ठीक पीछे एक मार्बल टाइल्स के गोदाम में सूचना पर पुलिस ने तलाशी शुरू की तो लापता अधिवक्ता धर्मेंद्र चौधरी का शव खुदाई के दौरान 6 फीट गहरे टैंक में मिला. अधिवक्ता पर धारदार हथियार से वार किए गए थे और उनके शव की पहचान मिटाने के लिए आग लगा दी गई थी. वकील की हत्या कर पुलिस चौकी के पीछे ही गाड़ दिया गया और बुलंदशहर पुलिस पिछले 8 दिनों से खेतों और जंगलों में ड्रोन उड़ाकर वकील की तलाश करती रही. 

पैसे के लेन-देन को लेकर विवाद के बाद हत्या 
खुर्जा निवासी 37 वर्षीय अधिवक्ता धर्मेंद्र चौधरी का अपहरण 8 दिन पहले हुआ था. हर रोज की तरह घर से सुबह निकले धर्मेंद्र चौधरी जब रात में वापस नहीं आए तो परिजनों ने पुलिस को इसकी जानकारी दी. पुलिस ने खोजबीन शुरू की तो उनकी बाइक क्षेत्र के गांव खबरा के पास जंगल से लावारिस हालत में मिली थी. धर्मेंद्र चौधरी के परिवार को मुताबिक उनकी हत्या पैसों के लेन-देन के विवाद में हुई है. 

इसे भी देखिए: डबल मर्डर केस में तीन गिरफ्तार, कुत्ते की खरीद-फरोख्त को लेकर भिड़े थे दो गुट

गिरफ्तार किए गए 3 आरोपी 
फिलहाल मृतक वकील धर्मेंद्र चौधरी के शव का पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है. पुलिस ने हत्या के आरोप में मार्बल टाइल्स गोदाम मालिक विवेक उर्फ विक्की के साथ उसके दो नौकरों को हिरासत में लिया है.  पुलिस के मुताबिक हत्यारोपी पहले दिन से ही पुलिस के साथ लापता अधिवक्ता को तलाशने में मदद कर रहा था. SSP ने बताया कि मामले में तीन आरोपियों को पुलिस हिरासत में लिया गया है और उनसे पूछताछ चल रही है. इस मामले में दोषियों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी. 

WATCH LIVE TV