बुलंदशहर हिंसा: आरोपी जवान जीतू हिरासत में, भाई ने बताया साजिशन फंसाने की कोशिश

धर्मेंद्र मलिक ने सीएम योगी से मदद की अपील की है. उन्होंने कहा कि मेरे पास जीतू की बेगुनाही के सबूत हैं.

बुलंदशहर हिंसा: आरोपी जवान जीतू हिरासत में, भाई ने बताया साजिशन फंसाने की कोशिश
गिरफ्तार जवान जीतू के भाई धर्मेंद्र मलिक. (फोटो साभार ANI)

बुलंदशहर/नई दिल्ली: बुलंदशहर हिंसा में इंस्पेक्टर सुबोध कुमार को गोली मारने के आरोप में भारतीय सेना के जवान जितेंद्र मलिक उर्फ जीतू फौजी को सोपोर से हिरासत में लिया गया. भाई को हिरासत में लिए जाने के बाद उनके भाई धर्मेंद्र मलिक ने कहा कि मेरे भाई को साजिश के तहत फंसाया जा रहा है. वह इंस्पेक्टर की हत्या में किसी भी रूप में शामिल नहीं थे. मेरे पास उनके बेगुनाही के सबूत हैं. धर्मेंद्र ने सीएम योगी से मदद की अपील की है.

बता दें, इंस्पेक्टर सुबोध की हत्या के मामले में कथित रूप से संलिप्त जवान जीतू को शनिवार को जम्मू-कश्मीर से हिरासत में ले लिया गया. सेना सूत्रों ने इस बात की जानकारी देते हुए बताया, जितेंद्र मलिक उर्फ जीतू फौजी को सोपोर में 22 राष्ट्रीय राइफल्स द्वारा हिरासत में लिया गया. इस मामले की जांच कर रही SIT की टीम ने उन्हें हिरासत में लिया है.

 

 

इस बीच आरोपी जीतेंद्र (जीतू) के परिजनों ने बताया कि पुलिस ने घर पर आकर तोड़-फोड़ की है. परिजनों ने पूछने पर बताया कि हमारे बेटे जीतू का नाम रंजिशन लिया गया है. जीतू की मां रत्ना कौर ने बताया कि उनके घर की हर चीज नष्ट कर दी गई है. उन्‍होंने कहा कि अगर मेरा बेटा दोषी है और उसने पुलिस को गोली मारी है तो मेरे बेटे को गोली मार दो नहीं तो मेरे घर में तोड़फोड़ का जो भी नुकसान हुआ है उसका चार गुना देना होगा. परिजनों ने बताया कि जीतू 20 दिनों की छुट्टी पर आया था. लेकिन, मौके पर वह नहीं गया था.