close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

कैग रिपोर्ट: लखनऊ में गोमती के मुकाबले बेहतर है वाराणसी में गंगा का पानी

वाराणसी में गंगा के पानी की गुणवत्ता लखनऊ में गोमती के जल के मुकाबले बेहतर है. नियंत्रक एवं लेखा महापरीक्षक (कैग) की ताजा रिपोर्ट में यह बात कही गयी है. विधानसभा में हाल में प्रस्तुत की गयी कैग रिपोर्ट में कहा गया है, ‘जहां वाराणसी में गंगा के पानी की गुणवत्ता सुधरी है, वहीं गोमती के जल की गुणवत्ता बदतर हो चुकी है.’

कैग रिपोर्ट: लखनऊ में गोमती के मुकाबले बेहतर है वाराणसी में गंगा का पानी
वाराणसी का दशाश्वमेध घाट. (फोटो : विकीपीडिया)

लखनऊ: वाराणसी में गंगा के पानी की गुणवत्ता लखनऊ में गोमती के जल के मुकाबले बेहतर है. नियंत्रक एवं लेखा महापरीक्षक (कैग) की ताजा रिपोर्ट में यह बात कही गयी है. विधानसभा में हाल में प्रस्तुत की गयी कैग रिपोर्ट में कहा गया है, ‘जहां वाराणसी में गंगा के पानी की गुणवत्ता सुधरी है, वहीं गोमती के जल की गुणवत्ता बदतर हो चुकी है.’

कैग ने प्रदेश के दो महत्वपूर्ण शहरों वाराणसी और लखनऊ में जल तथा वायु प्रदूषण के स्तरों तथा ठोस अपशिष्ट पदार्थो के निस्तारण को लेकर वर्ष 2011 से 2015 के बीच का अध्ययन किया और पाया कि वाराणसी में लखनऊ के मुकाबले आबादी का घनत्व ज्यादा है लेकिन वहां का प्रदूषण स्तर राजधानी के मुकाबले कम है.

रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि वाराणसी के मुकाबले लखनऊ ज्यादा प्रदूषित शहर है और प्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड वायु प्रदूषण की ठीक से निगरानी नहीं कर रहा है. लखनऊ में वाराणसी के मुकाबले दोगुने से भी ज्यादा वाहन होने के कारण स्थिति विकट होती जा रही है.

रिपोर्ट के अनुसार राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने नदियों तथा अन्य जलराशियों में पानी की गुणवत्ता जांचने के लिये नौ में से छह पैमानों की अनदेखी की है. ऐसा इसलिये हुआ क्योंकि प्रयोगशालाओं में जल परीक्षण के लिये पर्याप्त सुविधाएं ही नहीं हैं.