UP: फर्जी शिक्षकों पर सरकार सख्त, अब तक 37 पर केस दर्ज

सीतापुर में 10 फर्जी शिक्षकों का खुलासा किया गया है. एसआईटी की जांच में 10 शिक्षक दोषी पाए गए हैं. जिसके बाद उनपर कार्रवाई करते हुए मुकदमा दर्ज कर दिया गया है.

UP: फर्जी शिक्षकों पर सरकार सख्त, अब तक 37 पर केस दर्ज
फर्जी शिक्षकों पर केस दर्ज

राजकुमार दीक्षित/ सीतापुर: उत्तर प्रदेश में शिक्षा व्यवस्था को सुधारने के लिए लगातार फर्जी शिक्षकों की जांच की जारी है. इसी के तहत सीतापुर में 10 फर्जी शिक्षकों का खुलासा किया गया है. एसआईटी की जांच में 10 शिक्षक दोषी पाए गए हैं. जिसके बाद उनपर कार्रवाई करते हुए मुकदमा दर्ज कर दिया गया है.

बेसिक शिक्षा अधिकारी अजय कुमार का कहना है कि डॉक्टर भीमराव अंबेडकर विश्वविद्यालय में 10 शिक्षक फर्जी पाए गए थे. वे फर्जी प्रमाण पत्रों के आधार पर नौकरी कर रहे थे. जिन्हें चिन्हित कर बर्खास्त किया गया था. इस मामले में अब सभी शिक्षकों पर एफआईआर दर्ज कराई गई है.

आपको बता दें कि बीते अक्टूबर महीने में एसआईटी की जांच के बाद इन शिक्षकों पर कार्रवाई की गई थी. एसआईटी की जांच में सभी शिक्षकों के कागजात फर्जी पाए गए थे. जिसके बाद सभी शिक्षकों की रिपोर्ट बीएसए को सौंपी थी. बीएसए ने अक्टूबर महीने में इन सभी शिक्षकों को बर्खास्त करने की कार्रवाई की थी.

गौरतलब है कि शाहजहांपुर में भी फर्जी शिक्षकों का भंड़ाफोड़ किया गया था. बेसिक शिक्षा विभाग में फर्जी प्रमाण पत्रों के आधार पर नौकरी कर रहे 42 शिक्षकों के नाम सामने आए थे. जिसमें से 27 फर्जी शिक्षकों पर एफआईआर दर्ज कराई गई थी.

शाहजहांपुर से पहले देवरिया जनपद में भी पांच प्राथमिक शिक्षकों को बर्खास्त कर दिया गया था. फर्जी प्रमाण पत्र मिलने के बाद इन शिक्षकों पर कार्रवाई की गई थी.जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी प्रकाश नारायण ने बताया था कि अब तक कुल 29 शिक्षक बर्खास्त हो चुके हैं. आगे एसटीएफ और विभाग से भी जांच चल रही है. फर्जी शिक्षकों का ये आंकड़ा बढ़ सकता है.