close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

नोएडा अथॉरिटी चीफ इंजीनियर यादव सिंह मामला, CBI ने सुप्रीम कोर्ट से राहत नहीं देने की अपील की

CBI ने कहा कि यादव सिंह बहुत ही प्रभावशाली हैं और वह जांच को प्रभावित कर सकते हैं. साक्ष्यों को प्रभावित कर सकते हैं.

नोएडा अथॉरिटी चीफ इंजीनियर यादव सिंह मामला, CBI ने सुप्रीम कोर्ट से राहत नहीं देने की अपील की
फाइल फोटो.

राकेश, नोएडा: नोएडा अथॉरिटी के पूर्व चीफ इंजीनियर यादव सिंह मामले में CBI ने सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा दाखिल किया. CBI ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट से जमानत की मांग करने वाले यादव सिंह वरिष्ठ सरकारी अधिकारी थे और पढ़े- लिखे थे. उन्होंने सोच समझकर इस साजिश को अंजाम दिया है. CBI ने कहा कि 14 दिसंबर 2011 से 23 दिसंबर 2011 तक विभिन्न इंजीनियरिंग डिपार्टमेंट उनके कंट्रोल में थे और वह नोएडा अथॉरिटी के चीफ इंजीनियर पद पर तैनात थे.

CBI ने कहा कि यादव सिंह ने अपने पद का दुरुपयोग करते हुए 954.38 करोड़ रुपए के एग्रीमेंट बॉन्ड जारी किए जो 1280 प्रोजेक्ट के लिए थे. CBI ने कहा है कि यादव सिंह बहुत ही प्रभावशाली हैं और वह जांच को प्रभावित कर सकते हैं. साक्ष्यों को प्रभावित कर सकते हैं. ऐसे में जांच के दौरान उन्हें जमानत नहीं दी जानी चाहिए या अन्य किसी प्रकार की राहत नहीं दी जानी चाहिए.