close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

मेरठ में गरमाया पलायन का मुद्दा, नमो ऐप पर हुई शिकायत तो जागा प्रशासन, दिए कार्रवाई के आदेश

मुख्यमंत्री कार्यालय ने मेरठ के जिलाधिकारी व वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक को पूरे मामले की जांच कर रिपोर्ट देने का निर्देश दिया है. 

मेरठ में गरमाया पलायन का मुद्दा, नमो ऐप पर हुई शिकायत तो जागा प्रशासन, दिए कार्रवाई के आदेश
एसएसपी ने 13 जून को सीओ कोतवाली और लिसाड़ी गेट थानाध्यक्ष को जांच सौंपी है.

मेरठ: उत्तर प्रदेश के मेरठ में इन दिनों पलायन का मुद्दा गरमाया हुआ है. बताया गया है कि शहर के बीच स्थित लिसाड़ी गेट थाना क्षेत्र अंतर्गत मुस्लिम बहुल प्रह्लादनगर में बहुसंख्यक वर्ग के 425 परिवारों में से कोई 125 परिवार अपना मकान बेचकर पलायन कर गए हैं. नमो ऐप पर इसकी शिकायत पर शासन-प्रशासन सक्रिय हो उठा है. मुख्यमंत्री कार्यालय ने मेरठ के जिलाधिकारी व वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक को पूरे मामले की जांच कर रिपोर्ट देने का निर्देश दिया है. एसएसपी द्वारा 13 जून को सीओ कोतवाली और लिसाड़ी गेट थानाध्यक्ष को जांच सौंपी गई है.

स्थानीय लोगों का कहना है कि प्रह्लादनगर में बहुसंख्यक समाज की महिलाओं से छेड़छाड़, पर्स, चेन, मोबाइल व कीमती सामान की लूटपाट करना, विरोध करने पर पिटाई, घर के सामने आपत्तिजनक वस्तुएं फेंकना, आपत्तिजनक हरकतें करना आदि से लोगों का जीना दुश्वार हो गया है. इस कारण लोग यहां से पलायन करने के लिए मजबूर हो रहे हैं.

इस समस्या को लेकर कुछ दिनों पूर्व भारतीय जनता पार्टी के वार्ड 56 से पार्षद जितेंद्र पाहवा ने पुलिस-प्रशासनिक अफसरों को प्रार्थना पत्र देकर शरारती तत्वों पर लगाम कसने की मांग की थी, लेकिन उस पर कोई प्रभावी कदम नहीं उठाया गया. इसके बाद पलायन के संबंध में स्थानीय भाजपा नेता व बूथ अध्यक्ष भवेश मेहता ने 11 जून को नमो ऐप पर पूरे प्रकरण की जानकारी देते हुए मदद की गुहार लगाई. 

क्षेत्रीय भाजपा विधायक डॉ. सोमेंद्र तोमर की माने तो प्रह्लादनगर में शरारती तत्व उत्पात मचा रहे हैं, जिन पर लगाम कसने के लिए प्रशासन से कहा गया है. जिलाधिकारी अनिल ढींगरा का कहना है कि 'मुख्यमंत्री कार्यालय से जो ऑनलाइन रिपोर्ट मांगी गई है, वह अभी मेरे संज्ञान में नहीं है, मैं अपने कार्यालय से पता करता हूं.'

एसएसपी मेरठ नितिन तिवारी ने कहा कि पूरे प्रकरण की जांच कराई जा रही है. मुख्यमंत्री कार्यालय को रिपोर्ट भी जल्द दी जाएगी. मुख्यमंत्री कार्यालय से आए निर्देश के बाद प्रह्लाद नगर मंदिर के पास स्थाई पिकेट लगा दी गई है. एक दारोगा और दो सिपाहियों संग चेकिंग चलेगी. एंटी रोमियो स्क्वॉड भी समय-समय पर चेकिंग करेगा.

सांसद राजेंद्र अग्रवाल का कहना है कि अभी लोकसभा चल रही है. मेरठ आते ही इस मामले को देखूंगा. यह बड़ी चिंता की बात है. कानून व्यवस्था से जुड़ा मामला है, इस मसले पर प्रदेश सरकार से बात करेंगे. यह समस्या बड़ी हो गई है, इसका समाधान निकाला जाएगा. लोकसभा में भी इस विषय को उठाएंगे.

शिकायतकर्ता व भाजपा नेता भवेश मेहता ने बताया कि प्रह्लादनगर में शरारती तत्व अराजकता फैला रहे हैं. उनका कहना है कि इसके कारण यहां से लोग पलायन कर रहे हैं. मेहता ने कहा कि इनके मकान खरीदने वाले अधिकांश लोग दूसरे संप्रदाय से जुड़े हैं. प्रधानमंत्री कार्यालय को भी इसकी जानकारी दी गई है.