close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

गाजियाबाद: DM-SSP आमने-सामने, लखनऊ पहुंचा मामला, किया तलब

एसएसपी वैभव कृष्ण ने इस मामले में प्रमुख सचिव गृह अरविंद कुमार को एक पत्र लिखा है.

गाजियाबाद: DM-SSP आमने-सामने, लखनऊ पहुंचा मामला, किया तलब
एसएसपी के पत्र का शासन ने संज्ञान लिया है और ठोस कदम व कार्रवाई की जाएगी.

नई दिल्ली/ गाजियाबाद: उत्तर प्रदेश में एक बार फिर आईएएस और आईपीएस आमने-सामने हैं. मामला गाजियाबाद का है. दरअसल, थानाध्यक्षों के तैनाती को लेकर डीएम गाजियाबाद रितु माहेश्वरी ने एसएसपी वैभव कृष्ण के एक पत्र लिखते हुए पूछा है कि उनके खिलाफ कार्रवाई क्यों न की जाए, जिसके बाद मामला बढ़ गया. एसएसपी वैभव कृष्ण ने इस मामले में प्रमुख सचिव गृह अरविंद कुमार को एक पत्र लिखा है. एसएसपी ने अपने तबादले की गुजारिश भी की है. इस पत्र के बाद प्रमुख सचिव गृह ने दोनों को तलब करने की बात कही है. जानकारी के मुताबिक, एसएसपी के पत्र का शासन ने संज्ञान लिया है और ठोस कदम व कार्रवाई की जाएगी.

क्या था मामला
आपको बता दें कि ये मामला तब उठा जब गाजियाबाद के एसएसपी वैभव कृष्ण ने काफी संख्या में दरोगाओं की इधर से उधर पोस्टिंग की और नए थानेदारों की भी तैनाती की. इसके बाद गाजियाबाद की जिलाधिकारी रितु माहेश्वरी द्वारा एसएसपी से उनकी प्रतिक्रिया मांगी. उन्होंने एसएसपी से लिखित में सवाल पूछा कि क्यों न आपके खिलाफ कार्रवाई की जाए, क्योंकि आप नियमों को ताक पर रखकर दरोगाओं और थानेदारों की तैनाती कर रहे हैं. इसी के बाद से दोनों के बीच विवाद बढ़ गया. 

ये भी पढ़ें: थानेदारों की तैनाती के लिए DM-SSP आमने-सामने, डीएम बोले- 'पहले अनुमति ले लेते'

फेरबदल को लेकर पहले भी हुआ था विवाद
आपको बता दें कि पिछले महीने गौतमबुद्धनगर के एसएसपी डॉ अजय पाल शर्मा और यहां के डीएम बीएम सिंह के बीच भी तना-तनी सामने आई थी. डीएम ने पत्र लिखकर एसएसपी को से कहा था कि जिले में पुलिसकर्मियों की तैनाती से पहले जिलाधिकारी से अनुमोदन कराना जरूरी है, जो नहीं कराया गया था.