close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

उन्‍नाव में 'जय श्रीराम' नहीं, बल्कि क्रिकेट को लेकर हुआ था विवाद

पुलिस ने जानकारी दी है कि 11 जुलाई को दो पक्षों के बच्‍चों के बीच लड़ाई हुई थी. दोनों पक्षों के बीच क्रिकेट को लेकर झगड़ा हुआ था. 

उन्‍नाव में 'जय श्रीराम' नहीं, बल्कि क्रिकेट को लेकर हुआ था विवाद
उन्‍नाव में 11 जुलाई को हुई थी घटना. फाइल फोटो

उन्‍नाव : उन्‍नाव के मदरसे में छात्रों के साथ बदसलूकी करने और जय श्रीराम के कथित रूप से नारे लगवाने के मामले में अहम बात निकलकर सामने आई है. पुलिस का कहना है कि उन्‍नाव में नारे लगवाने जैसी कोई घटना नहीं हुई थी. यह विवाद क्रिकेट को लेकर हुआ था. खेल के दौरान ही बच्‍चों के बीच लड़ाई हुई थी. एडीजी लॉ पीवी राम शास्‍त्री का कहना है कि अराजकतत्‍वों की ओर से उन्‍नाव में माहौल खराब करने की कोशिश हुई है.

पुलिस ने जानकारी दी है कि 11 जुलाई को दो पक्षों के बच्‍चों के बीच लड़ाई हुई थी. दोनों पक्षों के बीच क्रिकेट को लेकर झगड़ा हुआ था. दोनों पक्षों के बीच मारपीट भी हुई थी. इस मामले में तीन लोगों के खिलाफ एफआईआर हुई थी. गुरुवार को दोनों समुदायों को लेकर शहर में थी तनावपूर्ण स्थिति रही थी. देर रात पुलिस जांच में निर्दोष साबित होने पर दोनों आरोपियों को छोड़ दिया गया. यह मामला उन्नाव के सदर कोतवाली इलाके का था.

बताया जा रहा है कि 11 जुलाई को दोपहर में जीआईसी मैदान में दारुल उलूम फैज-ए-आम मदरसे के बच्चे क्रिकेट खेल रहे थे. तभी कुछ और युवक वहां पहुंच गए थे. जिसके बाद वहां क्रिकेट खेलने को लेकर विवाद होने लगा. मौलाना का आरोप है कि बच्चे क्रिकेट खेल रहे थे तभी कुछ लड़के पहुंचे उन्होंने बच्चों से जय श्री राम के नारे लगाने को कहा. बच्चों ने मना किया तो युवकों ने मदरसे के छात्रों के साथ मारपीट की और उनके कपड़े फाड़ दिए. इसके बाद मदरसे के छात्रों ने मदरसा पहुंचकर पूरी घटना बताई और पुलिस को मामले की जानकारी दी.