IIM की क्लास खत्म करने के बाद सीएम योगी आदित्यनाथ ने कही ये बड़ी बात
Advertisement
trendingNow0/india/up-uttarakhand/uputtarakhand576696

IIM की क्लास खत्म करने के बाद सीएम योगी आदित्यनाथ ने कही ये बड़ी बात

सीएम योगी ने कहा कि केंद्र सरकार के द्वारा कॉर्पोरेट छूट ने उत्तर प्रदेश की अर्थव्यवस्था को मजबूत किया है. 

सीएम योगी ने कहा कि वन डिस्ट्रिक्ट वन प्रोडक्ट की योजना को आगे बढ़ाने पर काम किया जा रहा है.

लखनऊ: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) और उनकी सरकार के मंत्रियों की आईआईएम लखनऊ (IIM) में जारी क्लास 'मंथन' रविवार को समाप्त हो गई. समापन कार्यक्रम के बाद सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि यूपी सरकार और IIM Lucknow के साथ प्रदेश के विकास के संबंध में यह कार्यक्रम किया गया था. मुझे प्रसन्नता है कि हमारी कैबिनेट के सभी मंत्रियों ने इस मंथन में भाग लिया. सीएम योगी ने कहा कि उत्तर प्रदेश को एक ट्रिलियन इकोनॉमी का बनाने के लिए व्यापक कार्य योजना तैयार की गई है. 

सीएम योगी ने कहा कि केंद्र सरकार के द्वारा कॉर्पोरेट छूट ने उत्तर प्रदेश की अर्थव्यवस्था को मजबूत किया है. प्रदेश सरकार ने इसके लिए 5 प्रायॉरिटी सेक्टर का चयन किया. उन पांच सेक्टर को कैसे आगे बढ़ाया जाए, इस पर चर्चा की गई. औद्योगिक विकास, निवेश की संभावनाओं को बढ़ाना, पर्यटन के क्षेत्र में विकास पर मंथन किया गया. उन्होंने कहा कि वन डिस्ट्रिक्ट वन प्रोडक्ट की योजना को आगे बढ़ाने पर काम किया जा रहा है. प्रदेश के अंदर तीन एक्सप्रेस-वे की कार्य योजना तैयार की गई है. सीएम ने कहा कि राज्य सरकार ने ढाई वर्ष में 1,67,000 मजरों में विद्युतीकरण का कार्यक्रम किया है.

 

उन्होंने कहा कि हम 24 घंटे विद्युत आपूर्ति करने के लिए कार्य योजना को तैयार कर रहे हैं. प्रदेश में कार्य कृषि के साथ मत्स्य और खाद्य प्रसंस्करण में अपार संभावनाएं हैं. हमने इन क्षेत्रों में भी संभावनाओं को बेहतर मैनेजमेंट से आगे बढ़ाने की प्लानिंग की है. सीएम ने कहा कि राज्य की ग्रोथ रेट को आगे बढ़ाने वाले विकास कार्यों पर चर्चा हुई. उन्होंने कहा कि ढाई वर्षों में प्रदेश की कानून व्यवस्था बहुत बेहतर हुई है. पुलिस के आधुनिकीकरण, पुलिस विश्वविद्यालय, फॉरेंसिक लैब, साइबर लैब बनाई जा रही है. 

सीएम योगी ने कहा कि आईआईएम से कार्य योजना बनाने को कहा गया है. प्रदेश की जीडीपी की तरह जिले स्तर पर भी जीडीपी का मूल्यांकन होगा. बता दें कि सीएम योगी और सरकार के मंत्रियों के लिए आईआईएम लखनऊ में तीन दिन का विशेष ट्रेनिंग मॉड्यूल 'मंथन' तैयार किया गया था. 

Trending news