स्वतंत्रता संग्राम सेनानी ने मांगी थी इच्छा मृत्यु, CM योगी ने लिया मामले का संज्ञान

स्वतंत्रता संग्राम सेनानी ने डीएम अखिलेश तिवारी को एक प्रार्थना पत्र दिया था. जिसमें उन्होंने जिला अस्पताल के सीएमएस द्वारा अभद्रता किए जाने की बात कहते हुए इच्छा मृत्यु की गुहार लगाई थी.

स्वतंत्रता संग्राम सेनानी ने मांगी थी इच्छा मृत्यु, CM योगी ने लिया मामले का संज्ञान
स्वतंत्रता संग्राम सेनानी के साथ हुई अभद्रता के प्रकरण का मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने संज्ञान लिया है

सीतापुर: स्वतंत्रता संग्राम सेनानी के साथ हुई अभद्रता के प्रकरण का मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi AdityaNath) ने खुद संज्ञान लिया है. जिसके बाद सीएम योगी के आदेश पर डीएम ने सीएमएस एके अग्रवाल को फटकार लगाई है. दरअसल, सीतापुर में एक स्वतंत्रता संग्राम सेनानी ने जिलाधिकारी से इच्छा मृत्यु की गुहार लगाई थी. स्वतंत्रता संग्राम सेनानी ने डीएम अखिलेश तिवारी को एक प्रार्थना पत्र दिया था. जिसमें उन्होंने जिला अस्पताल के सीएमएस द्वारा अभद्रता किए जाने की बात कहते हुए इच्छा मृत्यु मांगी थी. स्वतंत्रता संग्राम सेनानी का आरोप था कि सीएमएस ने उनके साथ अभद्रता की है. जिस पर जिलाधिकारी अखिलेश तिवारी ने प्रार्थना पत्र लेकर पूरे मामले की जांच कराए जाने की बात कही थी. 

बता दें कि शहर के मोहल्ला आलमनगर के रहने वाले स्वतंत्रता संग्राम सेनानी शिव नारायण लाल शर्मा ने प्रार्थना पत्र देकर आरोप लगाया था कि, जिला अस्पताल के सीएमएस एके अग्रवाल ने उनके साथ अभद्र व्यवहार किया. इतना ही नहीं सीएमएस के द्वारा सार्वजनिक तौर पर कड़ी फटकार लगाई गई और लाइन में लगकर स्वास्थ्य परीक्षण कराने की धमकी भी दी. इस पूरे मामले को लेकर स्वतंत्रता संग्राम सेनानी शिव नारायण लाल शर्मा कई अन्य संगठनों के साथ डीएम अखिलेश तिवारी से मामले की शिकायत करने पहुंचे थे. स्वतंत्रता संग्राम सेनानी का कहना था कि एक सरकारी अधिकारी द्वारा उन्हें सार्वजनिक तौर पर अपमानित किया गया. जिससे उनके जीने की इच्छा समाप्त हो गई है. डीएम अखिलेश तिवारी से स्वतंत्रता संग्राम सेनानी ने मांग की थी कि या तो सीएमएस डॉक्टर एके अग्रवाल के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई की जाए या फिर इच्छा मृत्यु दी जाए.

वहीं अब मुख्यमंत्री योगी ने स्वतंत्रता संग्राम सेनानी के साथ हुई अभद्रता के प्रकरण का संज्ञान ले लिया है. सीएम के निर्देश के बाद डीएम ने सीएमएस एके अग्रवाल को फटकार लगा दी है. वहीं सीएमएस एके अग्रवाल ने खुद स्वतंत्रता संग्राम सेनानी के घर पुहंचकर माफी मांगी है.