हाथरस केस की जांच के लिए CM योगी ने गठित की SIT, मुकदमा फास्ट ट्रैक कोर्ट में चलाने का निर्देश

सीएम योगी आदित्यनाथ ने हाथरस घटना की जांच के लिए तीन सदस्यीय SIT का गठन किया है जिसकी अध्यक्षता सचिव गृह भगवान स्वरूप करेंगे.

हाथरस केस की जांच के लिए CM योगी ने गठित की SIT, मुकदमा फास्ट ट्रैक कोर्ट में चलाने का निर्देश
CM यौगी आदित्यनाथ (फाइल फोटो)

लखनऊ: हैवानों की दरिंदगी का शिकार होकर जान गंवाने वाली हाथरस की 19 वर्षीय बेटी को इंसाफ दिलाने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने स्पेशल इंवेस्टिगेशन टीम का गठन किया है. तीन सदस्यीय इस जांच टीम की अध्यक्षता गृह सचिव भगवान स्वरूप करेंगे. डीआईजी चंद्र प्रकाश और सेनानायक पीएसी आगरा पूनम इस जांच टीम के अन्य दो सदस्य हैं. SIT अपनी रिपोर्ट 7 दिन में पेश करेगी.

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पूरे मामले का ट्रायल फास्ट ट्रैक कोर्ट में कराने और पीड़ित परिवार की ओर से प्रभावी पैरवी के निर्देश दिए हैं. इस मामले में चारों आरोपी जेल में हैं. गौरतलब है कि हाथरस जिले के चंदपा थाने क्षेत्र के एक गांव में बीते 14 सितंबर को मवेशियों के लिए चारा लेने खेत गई 19 वर्षीय दलित लड़की को गांव के ही चार युवकों ने अपनी दरिंदगी का शिकार बनाया था.

हैवानों ने युवती के साथ दरिंदगी करने के बाद उसको जान से मारने की नीयत से उसका गला दबाया था, जिससे युवती के गर्दन की हड्डी टूट गई थी. लड़की को पहले अलीगढ़ के जेएन मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया था, फिर हालत बिगड़ने पर उसे दिल्ली के सफदरजंग हॉस्पिटल रेफर कर दिया गया था. यहां इलाज के दौरान मंगलवार सुबह पीड़िता की मौत हो गई.

यह भी पढ़ें - चंद्रशेखर की चेतावनी- पीड़ित परिवार को दो करोड़ रुपये और फर्स्ट क्लास नौकरी दो, वरना भारत बंद

पीड़िता के बयान के मुताबिक चारों आरोपियों पर आईपीसी की धारा 376डी (गैंगरेप) और 302 (हत्या) के तहत पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया है. हाथरस जिलाधिकारी के मुताबिक एससी/एसटी एक्ट के अंतर्गत पीड़िता के परिजनों को 10 लाख रुपए की आर्थिक सहायता शासन की ओर से मुहैया करा दी गई है. डीएम और एसपी ने मंगलवार को एक संयुक्त बयान जारी कर मृतका के जीभ काटने और आंखें फोड़ने की बात को गलत बताया. आरोपियों ने पीड़िता का गला दबाया था,​ जिससे उसके गर्दन के पीछे वाली हड्डी फ्रैक्चर हो गई थी. मंगलवार शाम पीड़िता का उसके पैतृक निवास स्थान पर अंतिम संस्कार कर दिया गया. इस दौरान भारी संख्या में पुलिसकर्मी तैनात रहे.

WATCH LIVE TV