close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

अयोध्या केस में फैसले से पहले CM योगी का निर्देश, आतंकी घटनाओं में शामिल लोगों को भेजें जेल

मुख्यमंत्री ने कहा कि राम मंदिर पर जल्द फैसला आने वाला है. इस मुद्दे पर कोर्ट का जो भी फैसला आए, भड़कीले बयान किसी भी स्तर पर नहीं होने चाहिए. 

अयोध्या केस में फैसले से पहले CM योगी का निर्देश, आतंकी घटनाओं में शामिल लोगों को भेजें जेल
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (फाइल फोटो)

लखनऊ: अयोध्या केस (Ayodhya case) में संभावित फैसले से पहले यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने यूपी (UP) के जिलाधिकारियों और पुलिस अधिकारियों को अहम निर्देश दिए हैं. मुख्यमंत्री ने कहा है कि 1990 से लेकर 2018 के बीच आतंकी घटनाओं में लिप्त रहने वाले या फिर परोक्ष-अपरोक्ष रूप से आतंकी घटनाओं से जुड़े रहने वाले व्यक्तियों का सोशल मीडिया चेक करें. अगर वे जेल से बाहर हैं तो उन्हें तत्काल गिरफ्तार कर जेल भेजें.

मुख्यमंत्री ने कहा कि राम मंदिर ( Ram temple) पर जल्द फैसला आने वाला है. इस मुद्दे पर कोर्ट का जो भी फैसला आए, उसे लेकर कोई भी सार्वजनिक रूप से प्रतिक्रिया नहीं होनी चाहिए. भड़कीले बयान किसी भी स्तर पर नहीं होने चाहिए. इसके लिए सोशल मीडिया पर भी निगरानी रखनी होगी.

 यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ ने सभी जिलों के जिलाधिकारियों और पुलिस अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि प्रमुख संगठनों, धर्म गुरुओं और नेताओं की सुरक्षा को लेकर समीक्षा जरूर करें.

बता दें चालीस दिन की सुनवाई के बाद, सुप्रीम कोर्ट (Supreme court) ने 16 अक्टूबर (बुधवार) को राजनीतिक रूप से अति-महत्वपूर्ण 70 वर्ष पुराने मामले में अपना फैसला सुरक्षित रख लिया।
प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली पांच न्यायाधीशों की पीठ ने 6 अगस्त से मामले में रोजाना सुनवाई शुरू की थी। 

इससे पहले अदालत द्वारा नियुक्त मध्यस्थता पैनल मामले को सुलझाने में विफल रही थी। पैनल की अध्यक्षता शीर्ष अदालत के पूर्व न्यायाधीश कर रहे थे। ऐसी उम्मीद है कि 17 नवंबर को अपनी सेवानिवृत्ति से पहले प्रधान न्यायाधीश मामले में फैसला सुनाएंगे।