बुंदेलखंड को मुख्यमंत्री योगी की सौगात, 'हर घर जल' योजना का किया शुभारंभ

सीएम योगी ने कहा कि शुद्ध पेयजल की आपूर्ति का मतलब है आधी से अधिक बीमारियों का समाधान. 

बुंदेलखंड को मुख्यमंत्री योगी की सौगात, 'हर घर जल' योजना का किया शुभारंभ

झांसी: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को 'जल जीवन मिशन’ उत्तर प्रदेश (हर घर जल) योजना का शुभांरभ किया. पहले चरण में बुंदेलखंड में 2185 करोड़ की लागत से 12 ग्रामीण पाइप पेयजल परियोजनाओं का निर्माण किया जाएगा.

अपने संबोधन में सीएम योगी ने कहा कि मुझे प्रसन्नता है कि प्रधानमंत्री मोदी की अनुकम्पा से हम बुंदेलखंड के जनपद झांसी, महोबा व ललितपुर में पेयजल की सभी योजनाओं का शुभारम्भ करने जा रहे हैं. बुंदेलखंड में 'हर घर जल योजना' को शुरू करने के लिए पिछले डेढ़ वर्ष से जो कवायद चल रही थी, आज यह योजना धरती पर उतर रही है. आगामी दो वर्ष में 'हर घर जल योजना' को साकार करने में हमें सफलता प्राप्त होगी.

सीएम योगी ने कहा कि शुद्ध पेयजल की आपूर्ति का मतलब है आधी से अधिक बीमारियों का समाधान. हम जिन कार्यों को लेकर यहां पर आए हैं, इससे बड़ी आबादी लाभांवित होगी. उन्होंने बताया फरवरी, 2019 में प्रधानमंत्री मोदी ने झांसी में 'बुंदेलखंड पाइप पेयजल योजना' का शिलान्यास किया था. इस दौरान हमने पूरे बुंदेलखंड में 4,513 राजस्व ग्रामों में सर्वे का कार्य किया था.

सीएम योगी ने बताया कि सर्वे का काम शुरू करने के साथ ही हमारे सामने यह लक्ष्य था कि जो कार्य योजना बने, वो ऐसी हो कि कार्यदायी संस्था अगले दस सालों तक ग्राम पंचायत के साथ मिलकर उसके मेंटिनेंस की जिम्मेदारी भी उठा सकें.

बता दें कि बुंदेलखंड के 7 जनपदों में 43 सतही स्रोतों से और 436 भूगर्भ जल स्रोतों से, कुल 479 परियोजनाओं को हमने बुंदेलखंड के लिए तैयार किया गया है. ललितपुर जनपद के 559 गांवों की 9,87,689 आबादी को लाभान्वित करने के लिए लिए ₹1,623.47 करोड़ की 16 सतही स्रोत आधारित व 12 भूगर्भ जल स्रोत योजनाओं पर काम होगा. वहीं, महोबा के 364 गांवों की 6,68,660 आबादी को लाभान्वित करने के लिए ₹1,219.74 करोड़ की 5 सतही स्रोतों पर आधारित परियोजनाओं का आज शुभारंभ हुआ.

सीएम योगी ने अपने संबोधन में जल संरक्षण पर भी ध्यान देने की अपील की है. उन्होंने कहा कि हम सभी को जल की एक-एक बूंद की कीमत को समझना होगा, जल संरक्षण के लिए बुंदेलखंड में बड़ी संख्या में तालाब खुदवाएं हैं. उन्होंने कहा, अगर हम अपने घर, छत, आंगन, खेत और अन्य पानी वाली जगहों पर रेनवॉटर हार्वेस्टिंग की व्यवस्था करेंगे, तो यही जल हमारे लिए सोना उगलेगा.