close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

नोएडा, ग्रेटर नोएडा और यमुना अथॉरिटी की पहली बार समीक्षा करेंगे CM योगी, अधिकारियों में मचा हड़कंप

समीक्षा बैठक में जेपी परियोजनों से जुड़े खरीदारों का मुद्दा भी अहम होने वाला है. बैठक में पिछले 2 साल और आने वाले 2 साल में बायर्स के मुद्दे कैसे हल होंगे और वर्तमान में क्या उपलब्धियां होंगी इस पर भी विस्तार से चर्चा होगी.

नोएडा, ग्रेटर नोएडा और यमुना अथॉरिटी की पहली बार समीक्षा करेंगे CM योगी, अधिकारियों में मचा हड़कंप
गौतमबुद्ध नगर की तीनों अथॉरिटी के अधिकारी सीएम योगी के आगमन की तैयारियो में जुट गए है. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ शुक्रवार (14 जून) को ग्रेटर नोएडा में नोएडा, ग्रेटर नोएडा और यमुना अथॉरिटी की समीक्षा बैठक करेंगे. ये पहला मौका होगा जब उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री खुद ग्रेटर नोएडा पहुंच कर समीक्षा बैठक करेंगे और विकास कार्यों का जायजा लेंगे. 

गौतमबुद्ध नगर की तीनों अथॉरिटी के अधिकारी सीएम योगी के आगमन की तैयारियो में जुट गए है. समीक्षा बैठक में सीएम योगी का सबसे ज्यादा ध्यान ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी होगा. ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी को शाहबेरी मामले में भी एक्शन लेने है, जिससे हजारों लोग और सैकड़ो निवेशक पर सीधा फर्क पड़ेगा. ये मुद्दा भी इस बैठक का अहम मुद्दा बन सकता है. इसके साथ-साथ देश का सबसे बड़ा बनाने वाला एयरपोर्ट जेवर की भी कार्य समीक्षा होगी. इस एयरपोर्ट के बनाने से जेवर के आस-पास के 25 से ज्यादा जिलों को बड़ा लाभ होगा और पश्चिमी उत्तर प्रदेश के विकास के लिए बड़े रास्ते खुल जाएंगे. 

समीक्षा बैठक में जेपी परियोजनों से जुड़े खरीदारों का मुद्दा भी अहम होने वाला है. बैठक में पिछले 2 साल और आने वाले 2 साल में बायर्स के मुद्दे कैसे हल होंगे और वर्तमान में क्या उपलब्धियां होंगी इस पर भी विस्तार से चर्चा होगी.

यह बैठक ग्रेटर नोएडा कार्यालय में होगी. पहली बार कोई मुख्यमंत्री ग्रेटर नोएडा में ऑथोरिटी की समीक्ष बैठक करेंगे. इससे पहले हमेशा ये बैठक लखनऊ में होती रही है. तीनों अथॉरिटी में अधिकारियों में हड़कंप मचा है. क्योंकि ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी का विकास कार्य काफी धीमी गति से चल रहा है. 

परियोजनाए जिनकी होगी समीक्षा 
- जेवर एयरपोर्ट के काम की समीक्षा
- शहर में बनाई जा रही भूमिगत पार्किंग (सेक्टर 1,3,5)
- सड़कों के चौड़ीकरण का काम
- नए सेक्टर में किया जा रहा विकास कार्य
- मेट्रो की परियोजनाए और 2021 तक प्रस्तावित योजनाए
- शहर में साफ सफाई से जुड़ी योजनाएं