गोरखपुर में CM ने की अपील तो झांसी में जला 'करोना', फर्रुखाबाद में गोबर से होली तो मथुरा में जूतामार

कोरोना वायरस के खौफ को उत्तर प्रदेश के लोगों ने होली के जोश से मात दे दी. हालांकि कोरोना वायरस को लेकर समझदारी दिखाते हुए लोगों ने इस बार पानी का इस्तेमाल कम किया लेकिन रंग से अपनों को सरोबार करने में कोई कसर नहीं छोड़ा.   

गोरखपुर में CM ने की अपील तो झांसी में जला 'करोना', फर्रुखाबाद में गोबर से होली तो मथुरा में जूतामार

जी मीडिया ब्यूरो / उत्तर प्रदेश: रंगों के त्योहार होली को प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने गृह नगर गोरखपुर में मनाया. CM योगी ने प्रदेशवासियों को होली की शुभकामनाएं दीं. इस दौरान उन्होंने कहा कि होली ऐसा त्योहार है जिसमें किसी भी तरह का भेदभाव नहीं होता. होली बुराई त्यागने का पर्व है. हालांकि CM योगी ने कोरोना वायरस को देखते हुए, रंग-गुलाल खेलने के दौरान लोगों से सतर्कता बरतने की भी अपील की.उन्होंने कहा देश प्रदेश में कोरोना बीमारी का भय है लेकिन किसी भी बीमारी के लिए सावधानी में ही बचाव है.

झांसी: कोराना वायरस की होलिका
CM योगी की इस सलाह को झांसी के लोगों ने तन मन से निभाया. वहां कोरोना वायरस को खत्म करने के लिए एक अनोखी कोशिश की गई. झांसी के झोकनाबाग में होलिका की प्रतिमा के साथ कोरोना वायरस के पोस्टर को भी जलाया गया. झांसी के मेयर ने पूरे देश से कोरोना वायरस को समाप्त करने की कामना करते हुए होलिका दहन किया. इस मौके पर बड़ी संख्या में स्थानीय लोग मौजूद रहे, सभी लोग ने कोरोना वायरस समाप्त होने की कामना की.

झांसी के एरच नगर में आयोजित होली कार्यक्रम में राई डांस करके लोगों ने खुशी ज़ाहिर की. युवा और बुजुर्गों ने एक साथ होली की महफिल में जम कर राई डांस का आनंद लिया. बुंदेलखंड में लोगों की ये मस्ती रंग पंचमी तक जारी रहेगी.

अयोध्या: 'रघुवीरा' ने अवध में खेली होली, वृंदावन से 'बांके बिहारी' ने भेजा रंग

वाराणसी: घाटों में होली की मस्ती 

वाराणसी के घाट पर होली की मस्ती देखने को मिली. बड़ी संख्या में वाराणसी के लोग दशाश्वमेध घाट पहुंचे. काशी के घाट पर विदेशी पर्यटक भी बड़ी संख्या में होली के रंग में रंगे हुए दिखाई दिए. इसके साथ ही महिलाओं ने भी घाट पर होली के उत्साह में शामिल होकर खुशी मनाई. होली के मौके पर वाराणसी में धार्मिक समरसता की मिसाल भी देखने को मिली. भोले की नगरी में मुस्लिम बहनों ने गीत गाकर होली मनाया. 

Corona की दहशत: काशी में भगवान शिव को पहनाया गया मास्क, स्पर्श न करने की अपील

मथुरा: होली के अजब-गजब रंग

मथुरा में होली का पर्व पूरे हर्षोल्लास से मनाया गया. देश-विदेश से ब्रज में आए श्रद्धालुओं पर होली का उत्साह सिर चढ़कर बोलता नजर आया. रंग और उमंग के साथ श्रद्धालुओं ने बांके बिहारी मंदिर में होली खेली. देश के अलग-अलग राज्यों से आए कान्हा के भक्तों ने होली समारोह में शामिल होकर इस अनूठी होली का लुत्फ उठाया. मथुरा में कई तरह की होली मनाने की परंपरा देशभर में प्रसिद्ध हैं. 

मथुरा में लट्ठमार, रंगोली, धूल भरी और अन्य तरह की होली मनाई जाती है. इसी तरह एक अनोखी होली है जूता मार होली. मथुरा के बछगांव में कई सालों से जूता मार होली मनाई जा रही है.जूता मार होली में उम्र में बड़ा व्यक्ति अपने से छोटे व्यक्ति के सर पर जूते-चप्पल मारता है.गांव के लोगों के मुताबिक ये परंपरा श्री कृष्ण के समय से चली आ रही है.

इटावा: 'होली मिलन' पर सियासी रंग, क्या BJP के खिलाफ चाचा-भतीजा दिखेंगे एकसंग

फर्रुखाबाद: गौप्रेमियों की होली 
फर्रुखाबाद में लोगों ने गाय के गोबर से जमकर होली खेली. एक दूसरे पर गोबर फेंक कर रंगों के त्योहार को बड़ी धूमधाम से मनाया. लोगों का कहना है कि होली पर रंग-गुलाल के साथ ही गोबर लगाकर त्योहार मनाने की परंपरा है.मान्यता है कि सात रंग में गोबर का रंग अपने में खास है और इसी वजह से होली के दिन गोबर के साथ होली मनाया जाता है.

WATCH LIVE TV