कोरोना की Second Wave है पहले से ज्यादा खतरनाक, बचाव के लिए ध्यान रखें ये बातें

इस बात का ध्यान रखें कि संक्रमण के बाद अगर आपको हल्का बुखार भी आता है तो घर में ही दवा लेने की बजाय डॉक्टर से कंसल्ट करें, वरना सेहत बिगड़ भी सकती है. 

कोरोना की Second Wave है पहले से ज्यादा खतरनाक, बचाव के लिए ध्यान रखें ये बातें

लखनऊ: देश में कोरोना की दूसरी लहर (Second Wave) शुरू हो चुकी है. दिल्ली, मुंबई जैसे बड़े शहरों में रोज ही हजारों की संख्या में लोग संक्रमित पाए जा रहे हैं. हम यह भी जानते हैं कि किसी भी महामारी की दूसरी लहर ज्यादा ताकतवर और खतरनाक होती है. 1917 के स्पेनिश फ्लू को ही याद कर लीजिए. जब 1919 में उसकी दूसरी वेव शुरू हुई तो वह पहले के मुकाबले ज्यादा हानिकारक थी. 

अब कोरोना के इस डरावने दूसरे फेज से लड़ने के लिए लोग तरह-तरह के उपाय कर रहे हैं. इस खबर में जानें क्या हैं इसके लक्षण (Corona Second Wave Symptoms) और कैसे करें उनसे बचाव. 

ये भी पढ़ें: ऐसे लोगों से कोरोना फैलने का ज्यादा खतरा, बचाव के लिए इन चीजों का रखें ध्यान

पहले से ज्यादा दिखे लक्षण 
कोविड की दूसरी लहर के मरीजों का इलाज करने के दौरान पाया गया है कि इस बार लोगों में पहले के मुकाबले ज्यादा लक्षण देखने को मिले हैं. इन लक्षणों को तीन भागों में बांटा गया है. जानें क्या कहते हैं डॉक्टर्स... 

पहला फेज: 
कोरोना के पहले फेज में मरीजों ने यह लक्षण देखे हैं. बीमारी के पहले तीन दिनों में यह लक्षण दिखने लगते हैं. 
1. शरीर में दर्द (Body Pain) 
2. आंखों में दर्द (Eye Pain) 
3. सिर दर्द (Headache) 
4. उल्टी, दस्त (Vomit, Loose Motions) 
5. नाक का बहना (Running Nose) 
6. आंखों में जलन (Burning Sensation in Eyes) 
7. पेशाब के दौरान जलन होना (Burning Sensation During Peeing) 
8. बुखार के जैसा महसूस होना (Fever) 
9. गले में खराश (Soar Throat) 

ये भी पढ़ें: अमेरिकी कंपनी Pfizer के पूर्व वाइस प्रेसिडेंट का अजीबो-गरीब बयान, ''कोरोना खत्म, अब वैक्सीन की जरूरत नहीं''

दूसरा फेज: 
कोरोना के मरीजों ने पाया कि संक्रमण के चौथे से आठवें दिन के अंदर यह लक्षण दिखाई  देने लगते हैं. 
1. स्वाद न आना (Lack of Taste) 
2. आलस्य का बने रहना (Laziness) 
3. सीने में कसाव महसूस करना (Pressure on Chest) 
4. सीने में दर्द (Chest ache) 
5. किडनी के आस-पास दर्द रहना (Pain in Area near Kidney) 
6. सांस लेने में दिक्कत होना (Problems in Breathing) 
7. उठने- बैठने के दौरान थकान लगना (Getting Easily Tired While Getting up) 

तीसरा फेज: 
जानकारी के अनुसार 9वें दिन से शरीर खुद बीमारी से लड़ना शुरू कर देता है और यह प्रक्रिया अगले 14 दिन तक चलती है. इस दौरान डॉक्टर ने जितनी भी चीजें बताई हैं, वह सब समय और नियम के अनुसार करते रहने से सेहत में सुधार आना शुरू हो जाता है. ध्यान दें कि अगले 14 दिन से पहले किसी के भी कॉन्टेक्ट में न आएं. भले ही आपको कोई लक्षण न दिख रहे हों. इस बात का भी ध्यान रखें कि संक्रमण के बाद अगर आपको हल्का बुखार भी आता है तो घर में ही दवा लेने की बजाय डॉक्टर से कंसल्ट करें, वरना सेहत बिगड़ भी सकती है. 

ये भी पढ़ें: ..जब बाघ ने किया हमला, जान बचाने के लिए चिल्ला कर भागे लोग, वीडियो हुआ वायरल

इन चीजों को करेंगे आदत में शामिल, तो रहेंगे स्वस्थ 
1. रोज कम से कम 20 मिनट के लिए धूप में बैठें 
2. 8 घंटे की नींद जरूर पूरी करें 
3. रोज 1.5 लीटर पानी जरूर पीयें. 
4. ठंडा खाना न खाएं 
5. मास्क और सेनेटाइजर हमेशा साथ रखें  

pH Range का रखें ख्याल : 
डॉक्टर्स का कहना है कि कोरोना के वायरस का पीएच 5.5 से 8.5 के बीच ही होता है. इसलिए वायरस से बचाव के यह बेहद जरूरी है कि हमारी बॉडी का पीएच लेवल 8.5 से ऊपर होना चाहिए. इसलिए आदत में शामिल करें केला, नींबू, लहसुन, आम, पाइन एप्पल और संतरा. 

WATCH LIVE TV