हैदराबाद गैंगरेप-हत्या मामले से आहत पुलिसकर्मी की बेटी, नोएडा में अकेली धरने पर बैठी

इंटरनेशनल कंपनी में डवलेपमेंट एक्सक्यूटिव डायरेक्टर के पद पर तैनात युवती ने कहा कि मैं खुद एक पुलिसकर्मी की बेटी हूं और मैं सुरक्षित नहीं हूं.

हैदराबाद गैंगरेप-हत्या मामले से आहत पुलिसकर्मी की बेटी, नोएडा में अकेली धरने पर बैठी
नोएडा सेक्टर 18 में अकेली धरने पर बैठी युवती.

नोएडा: हैदराबाद (Hyderabad) में डॉक्टर के साथ हुई रेप और निर्मम हत्या मामले को लेकर देशभर में उबाल है. जगह-जगह विरोध प्रदर्शन जारी है. डॉक्टर के साथ हुई दरिंदगी से आहत मेरठ निवासी दीक्षा गौड़ बुधवार (4 दिसंबर) को नोएडा सेक्टर 18 में जीआईपी के पास अकेली धरने पर बैठ गई. दीक्षा की मांग है कि ऐसे अपराधियों के लिए सरकार एक नया और सख्त कानून बनाए. 

इंटरनेशनल कंपनी में डवलेपमेंट एक्सक्यूटिव डायरेक्टर के पद पर तैनात युवती ने कहा कि मैं खुद एक पुलिसकर्मी की बेटी हूं और मैं सुरक्षित नहीं हूं. सरकार हमें सुरक्षा नहीं दे सकती तो हमें जन्म से पहले ही क्यों नहीं मार देती. आपको बता दें कि दीक्षा के भाई शाहजहांपुर यूपी पुलिस विभाग में तैनात हैं जबकि पिता भी पुलिस विभाग में थे, उनकी किसी कारण मौत हो गई. 

लाइव टीवी देखें

दिल्ली के मयूर विहार में स्थित बीआरएम इंटरनेशनल कंपनी में डवलेपमेंट एक्सक्यूटिव डायरेक्टर के पद पर तैनात दीक्षा गौड़ का कहना है कि देश में रोजाना न जाने कितनी लड़कियों के साथ रेप जैसी घिनौनी वारदात होती है. लेकिन सरकार कोई ठोस कदम नहीं उठा रही. मैं खुद एक पुलिसकर्मी की बेटी हूं और सुरक्षित नहीं हूं. आपको बता दें कि सूचना पाकर मौके पर पंहुची महिला पुलिस युवती को समझाबुझाकर धरने से उठा ले गई है.

उधर, दिल्ली महिला आयोग (Delhi Commission for Women) की चेयरमैन स्वाति मालिवाल 6 महीने के भीतर बलात्कार के दोषियों को फांसी दिए जाने की मांग को लेकर अनिश्चित कालीन भूख हड़ताल पर बैठी हैं.