योजनाओं के क्रियान्वयन में नहीं चलेगी बहाने बाजी, CM तीरथ ने समीक्षा बैठक कर दिए ये निर्देश

उन्होंने कहा घोषणा तभी पूर्ण मानी जाय जब वह धरातल पर दिखाई दें. साथ ही बची घोषणाओं की डीपीआर 15 जुलाई तक पूरा करने के निर्देश दिए. 

योजनाओं के क्रियान्वयन में नहीं चलेगी बहाने बाजी, CM तीरथ ने समीक्षा बैठक कर दिए ये निर्देश

देहरादून: मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने गुरुवार को सचिवालय में वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से बागेश्वर एवं अल्मोड़ा जनपदों के लिये की गईं घोषणाओं के क्रियान्वयन की समीक्षा बैठक की. जिसमें उन्होंने कहा घोषणा तभी पूर्ण मानी जाय जब वह धरातल पर दिखाई दें. साथ ही बची घोषणाओं की डीपीआर 15 जुलाई तक पूरा करने के निर्देश दिए. 

योजनाओं के क्रियान्वयन में नहीं चलेगी बहाने बाजी
सीएम ने कहा कि योजनायें समयबद्धता एवं गुणवत्ता के साथ पूर्ण हो यह विभागीय प्रमुखों की जिम्मेदारी है. इसके लिये सचिव एवं विभागाध्यक्ष आपसी समन्वय से योजनाओं के क्रियान्वयन की समीक्षा करें. मुख्यमंत्री ने निर्देश दिये कि योजनाओं के क्रियान्वयन में अनावश्यक बहाने बाजी नही होनी चाहिए. उन्होंने कहा कि घोषित योजनायें जब धरातल पर दिखाई दें तभी वह पूर्ण मानी जाय. इसमें कार्रवाई गतिमान जैसे शब्दो का उल्लेख किये जाने के बजाय वास्तविक स्थिति का उल्लेख होना चाहिए.

UP Weather Update: झमाझम बारिश से सराबोर होंगे यूपी के ज्यादातर जिले, मौसम विभाग का अलर्ट

मुख्यमंत्री तीरथ सिंह ने कहा कि सड़कों, पुल, पेयजल सिंचाई की योजनाओं, स्कूल व अन्य भवनों के निर्माण, खेल मैदानों पार्किंग स्थलों के विकास आदि से सम्बन्धित योजनाओं के लम्बित प्रस्तावों की डीपीआर 15 जुलाई तक हर हालात में तैयार की जाय. ताकि, उनके लिये धनराशि की स्वीकृति के साथ टेण्डर प्रक्रिया भी अविलम्ब प्रारम्भ की जा सके. मुख्यमंत्री ने कहा कि योजनाओं के क्रियान्वयन में धनराशि की कमी नहीं होने दी जायेगा.

उन्होंने सल्ट विधानसभा क्षेत्र की पंपिंग पेयजल योजना तथा अल्मोड़ा की खत्याड़ी ग्राम सभा समूह पेयजल योजना के प्रस्ताव अविलम्ब जल जीवन मिशन के तहत प्रेषित करने के निर्देश दिये हैं. मुख्यमंत्री ने विकासखण्ड ताकुला जाने वाले मार्ग के निर्माण के लिये वन विभाग एवं लोक निर्माण विभाग से आपसी विचार विमर्श के बाद इस सम्बन्ध में दो सप्ताह में निर्णय लेने को कहा ताकि सड़क का निर्माण शीघ्र हो सके.

UP Corona Update: यूपी में बीते 24 घंटे में 336 नए मामले, 685 लोगों ने जीती कोरोना से जंग

 

सड़कों और पुल निर्माण में लाई जाए तेजी
मुख्यमंत्री ने पर्वतीय क्षेत्रों में निर्मित होने वाली सड़कों व पुलों के निर्माण में तेजी लाने के भी निर्देश दिये. उन्होंने कहा कि जिन कार्यों के अभी टेण्डर नहीं हुए हैं. उनके शीघ्र टेण्डर कर लिये जाये ताकि बरसात के तुरन्त बाद उनपर कार्य आरम्भ किया जा सके. बैठक में बताया गया है कि विधानसभा क्षेत्र कपकोट के लिये कुल 37 घोषणाये की गई हैं.

जिनमें से 20 पूर्ण हो चुकी है शेष पर कार्यवाही गतिमान है. इसी प्रकार बागेश्वर के लिये 29 घोषणाओं में 19 पूर्ण हो चुकी है. अल्मोड़ा अन्तर्गत 32 घोषणाओं में 16, सल्ट के लिये की गई 76 घोषणाओं में से 49, द्वारहाट की 16 में से 15 तथा सोमेश्वर की 74 में 37 घोषणाये पूर्ण हो चुकी है तथा शेष में कार्यवाही गतिमान है. 

कोविड केयर सेंटर का किया लोकार्पण
मुख्यमंत्री  तीरथ सिंह रावत ने गुरूवार को सचिवालय में हेनीवेल द्वारा नैनीताल में स्थापित 20 बिस्तरो वाले कोविड केयर सेन्टर का वर्चुवली लोकार्पण किया. इसके लिये हेनीवेल के प्रयासों की सराहना की. मुख्यमंत्री ने कहा कि हेनीवेल द्वारा कोविड से बचाव के लिये राज्य में 250 पीपीई किट, 60 आक्सीजन कन्सन्टेटर तथा मास्क भी वितरित किये हैं.

मुख्यमंत्री द्वारा इस महामारी की रोकथाम में सभी के द्वारा किये जा रहे प्रयासों की भी सराहना की. हेनीवेल के राकेश एवं आशीष द्वारा मुख्यमंत्री को भविष्य में भी सहयोग का आश्वासन दिया। उन्होंने बताया कि उनके द्वारा उत्तराखण्ड के 250 लोगो को रोजगार भी दिया जा रहा है.

WATCH LIVE TV