उत्तराखंड पुलिस की सराहनीय पहल, थाने में बनाया गया आइसोलेशन वार्ड

कोरोना किस संक्रमण काल मे अब तक डेढ़ हजार से अधिक पुलिसकर्मी संक्रमित हो चुके हैं. संक्रमण के बाद खतरा अधिक न बढ़े इसके लिए देहरादून के एक थाने में अलग तरह की व्यवस्था की गई.

उत्तराखंड पुलिस की सराहनीय पहल, थाने में बनाया गया आइसोलेशन वार्ड

मयंक राय\देहरादून: उत्तराखंड में बढ़ते कोरोना के मामलों के बीच तीरथ सिंह सरकार ने पुलिसकर्मियों को राहत दी है. राजधानी देहरादून के ग्रामीण क्षेत्र और हरिद्वार के बॉर्डर पर स्तिथ थाना परिसर में पुलिसकर्मियों व उनके परिजनों के लिए आइसोलेशन बैरिक स्थापित की गई है. थाने के एक कक्ष में बनाए गए इस बैरिक को बिल्कुल नया रूप दिया गया है.

संक्रमण से बचाने का प्रयास
वर्तमान समय मे कोरोना के बढ़ते संक्रमण के बीच पुलिस द्वारा लगातार फ्रंट लाइन वारियर्स के रूप में आम जनमानस को संक्रमण से बचाने का कार्य कर रही है. साथ ही उन तक हर संभव सहायता पहुंचाने का निरंतर प्रयास किया जा रहा है. चूंकि कोरोना के खिलाफ जारी यह जंग अभी लंबी है. लगातार फ्रंट लाइन वारियर्स के रूप में अपने कर्तव्यों का निर्वहन करते हुए पुलिसकर्मियों के उक्त संक्रमण से संक्रमित होने की संभावना भी लगातार बनी हुई है. 

अगर आप भी प्लाज्मा के लिए सोशल मीडिया पर करते है नंबर शेयर, तो हो सकते हैं ठगी का शिकार

आइसोलेशन वार्ड का किया गया उद्घाटन
वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डॉ योगेंद्र रावत के निर्देशन में पुलिसकर्मियों  के कल्याणार्थ किये जा रहे कार्यो के क्रम में थानाध्यक्ष रायवाला द्वारा पुलिसकर्मी व उनके परिवारों के लिए एक नई पहल किया है और थाना रायवाला परिसर में आइसोलेशन बैरिक स्थापित की गई है. एसएसपी व देहरादून द्वारा थाना रायवाला परिसर में स्थापित की गई आइसोलेशन वार्ड का उद्घाटन किया गया है.

आठ बेड का है वार्ड
थाना स्तर पर स्थापित किए गए इस आइसोलेशन बैरिक का खुद कप्तान ने निरीक्षण किया. इस दौरान वहां लगाये गए उपकरणों व संक्रमित पुलिसकर्मियों के स्वास्थ्य की देखरेख हेतु नियुक्त की गई मेडिकल टीम के संबंध में जानकारियां प्राप्त की गई.  आइसोलेशन बैरिक में संक्रमित पुलिसकर्मियों व उनके परिजनों के लिए 08 बेड लगाते हुए उनमे पल्स ऑक्सीमीटर, ईसीजी मशीन व आवश्यक उपकरण लगाए गए हैं. बैरिक में संक्रमित पुलिसकर्मियों व उनके परिजनों की देख रेख व मेडिकल सहायता हेतु स्थानीय डॉक्टर  हिमांशु के नेतृत्व में मेडिकल टीम नियुक्त की गई है, जिनके द्वारा आइसोलेशन अवधि के दौरान संक्रमित पुलिसकर्मी व उनके परिजनों के स्वास्थ्य की नियमित रूप से निगरानी रखी जायेगी.

VIDEO: बाघ ने सुअर को बनाया अपना शिकार, मुफ्त की दावत खाने पहुंच गया मगरमच्छ, फिर...

कप्तान ने की सराहना
उत्तराखंड में अब तक 1800 से अधिक पुलिसकर्मी संक्रमित हुए. आज भी 750 से अधिक पुलिसकर्मी आइसोलेशन में हैं. जबकि संक्रमण के चलते दो पुलिसकर्मी की मौत हो चुकी है. इस लिहाज से रायवाला थाने का यह प्रयास सराहनीय माना जा रहा है. कप्तान के साथ ही एसपी ग्रामीण स्वतंत्र सिंह ने भी थाने स्तर पर किए गए इस प्रयास की सराहना की. एसएसपी डॉ रावत ने कहा इस संकटकाल में पुलिस कर्मी पूरी शिद्दत के साथ काम कर रहे हैं ऐसे में उनका अपना बचाव भी जरूरी है. रायवाला थाने में आइसोलेशन बैरिक का आइडिया अन्य थानों को भी ऐसा करने के लिए प्रेरित करेगा.

WATCH LIVE TV