महीनों से डिपो में खड़ी बस के कट गए दो चालान, जांच करवाई तो उड़ गए अधिकारियों के होश!

मोरना बस डिपो में पिछले 6 माह से खड़ी बस का दिल्ली यातायात पुलिस ने दो बार में 8700 रुपये का चालान कर दिया है. 

महीनों से डिपो में खड़ी बस के कट गए दो चालान, जांच करवाई तो उड़ गए अधिकारियों के होश!
मोरना बस डिपो में पिछले 6 माह से खड़ी बस का दिल्ली यातायात पुलिस ने दो बार में 8700 रुपये का चालान कर दिया है.

नोएडा: दिल्ली से सटे नोएडा (Noida) में बस डिपो में पिछले कई महीनों से खड़ी बस के दो चालान आए हैं. जिससे अधिकारियों के होश ये सोच कर फाख्ता हो गए कि आखिर खड़ी बस का नए मोटर व्हीकल एक्ट (Motor Vehicle Act) के तहत कैसे चालान कट गया. किसने और कब बिना परमिशन के बस को सड़क पर दौड़ा दिया. आखिर क्यों किसी जिम्मेदार अधिकारी को इसकी भनक नहीं लगी ?  

दरअसल, मोरना बस डिपो में पिछले 6 माह से खड़ी बस का दिल्ली यातायात पुलिस ने दो बार में 8700 रुपये का चालान कर दिया है. चालान की रसीद जब डिपो में पहुंची तो तुरंत जांच के आदेश दिए गए. साथ ही पूरे मामले पर एआरएम अनुराग यादव ने यातायात पुलिस को दस्तावेजों के साथ एक पत्र भी भेजा. मामले पर एआरएम ने बताया कि बस मई से डिपो के अंदर खड़ी थी. जिसकी नीलामी भी हो चुकी थी. ऐसे में दो बार चालान कैसे काट दिया गया.

इस मामले की जब गहनता से जांच की गई तो हैरान कर देने वाली बात सामने आई. पड़ताल में सामने आया कि एक चालक रोडवेज की बस का नंबर अपने ऑटो में लगाकर चला रहा था. जो कि UP 14 AT 9047 है और ऑटो भजनपुरा का है. डिपो पहुंचे दोनों चालान विद आउट यूनिफार्म और अधिक सीट के थे. 

ऐसा नहीं है कि ऐसे चालानों का ये मामला नया हो, आये दिन इस तरह के मामलों के साथ परेशान लोग यातायात विभाग के दफ्तर पर हंगामा करते नजर आते हैं. पिछले दिनों भी ऐसा ही मामला सामने आया था, जहां एक बस चालक का बिना हेलमेट का चालान काट दिया गया था. जिसे बाद एसपी ट्रैफिक अनिल कुमार झा ने सिस्टम की गड़बड़ी मानते हुए ठीक कराने का आश्वासन दिया था.