close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

DGP ने किया टेरर फंडिंग नेटवर्क का खुलासा, नेपाली बैंक की वेबसाइट हैककर निकाले थे 49 लाख रुपये

डीजीपी ने बताया कि 4 अन्य लोगों के नेपाल से आतंकी गतिविधियों में शामिल होने की बात बताई जा रही है. गिरफ्तार हुए आरोपियों के पास से मोबाइल फोन और अन्य उपकरण भी बरामद हुए हैं. आरोपियों के मोबाईल डेटा को रिट्रीव किया जा रहा है.

DGP ने किया टेरर फंडिंग नेटवर्क का खुलासा, नेपाली बैंक की वेबसाइट हैककर निकाले थे 49 लाख रुपये
डीजीपी ने बताया कि टेरर फंडिंग नेटवर्क के जरिए रकम पहले नेपाल के बैंक खातों में जमा होती है.

लखनऊ: टेरर फंडिंग (Terror Funding) के आरोप और फेक करेंसी नेटवर्क (Fake Currency Network) से जुड़े चार संदिग्धों की लखीमपुर खीरी (Lakhimpur Kheri) से गिरफ्तारी के बाद यूपी के डीजीपी ओपी सिंह (OP Singh) ने मीडिया से बातचीत करते हुए बताया है कि उम्मीद अली, संजय अग्रवाल, शमीम सलमानी के साथ एक और व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया है जबकि मुमताज नाम के अपराधी की नेपाल पुलिस और यूपी पुलिस तलाश कर रही है. 

टेरर फंडिंग नेटवर्क का खुलासा करते हुए डीजीपी ओपी सिंह (DGP OP Singh) ने दोपहर में प्रेस कांफ्रेंस की. पकड़े गए आरोपियों ने नेपाली बैंक की वेबसाइट हैक करके 49 लाख रुपये निकाले थे और आतंकियों को उसे भारत में आतंकी गतिविधियों के लिए भेजा गया था. 

डीजीपी ने बताया कि 4 अन्य लोगों के नेपाल से आतंकी गतिविधियों में शामिल होने की बात बताई जा रही है. गिरफ्तार हुए आरोपियों के पास से मोबाइल फोन और अन्य उपकरण भी बरामद हुए हैं. आरोपियों के मोबाईल डेटा को रिट्रीव किया जा रहा है.

लाइव टीवी देखें

डीजीपी ने बताया कि टेरर फंडिंग नेटवर्क के जरिए रकम पहले नेपाल के बैंक खातों में जमा होती है. फिर नेपाल के रास्ते भारत में लाकर इस पैसों का उपयोग आतंकी गतिविधियों में खर्च करने की योजना थी. 

डीजीपी ने कहा कि टेरर फंडिंग नेटवर्क मामले में नेपाल सरकार से संपर्क किया जा रहा है. केंद्र सरकार के ज़रिए डिप्लोमैटिक प्रक्रिया के तहत नेपाल सरकार से संपर्क किया जा रहा है. फिलहाल खीरी पुलिस ने मुकदमा रजिस्टर किया है और अब इसे एटीएस को ट्रांसफर किया जाएगा.