लखनऊ में बसपा सुप्रीमो मायावती के खिलाफ दयाशंकर सिंह की पत्नी ने दर्ज करायी FIR

बसपा मुखिया मायावती के खिलाफ अभद्र टिप्पणी के आरोप में भाजपा से निष्कासित दयाशंकर सिंह के परिजनों ने हमले का मुख मोड़ते हुए शुक्रवार को हजरतगंज कोतवाली में बसपा मुखिया समेत कई नेताओं के खिलाफ उन्हीं आरोपों में मुकदमा दर्ज कराया है।

लखनऊ में बसपा सुप्रीमो मायावती के खिलाफ दयाशंकर सिंह की पत्नी ने दर्ज करायी FIR

लखनऊ : बसपा मुखिया मायावती के खिलाफ अभद्र टिप्पणी के आरोप में भाजपा से निष्कासित दयाशंकर सिंह के परिजनों ने हमले का मुख मोड़ते हुए शुक्रवार को हजरतगंज कोतवाली में बसपा मुखिया समेत कई नेताओं के खिलाफ उन्हीं आरोपों में मुकदमा दर्ज कराया है।

पुलिस ने बताया कि सिंह की मां तेतरा देवी ने लखनऊ में उनकी (सिंह) गिरफ्तारी की मांग को लेकर हुए बसपा के प्रदर्शन में लगे अभद्र नारों का जिक्र करते हुए एक शिकायत दर्ज करायी थी, जिसके आधार पर हजरतगंज कोतवाली में मुकदमा दर्ज किया गया।

पुलिस के मुताबिक तेतरा देवी की तहरीर पर जिन लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है उनमें बसपा मुखिया मायावती, बसपा प्रदेश अध्यक्ष रामअचल राजभर, राष्ट्रीय महासचिव नसीमुद्दीन सिद्दीकी तथा सचिव मेवालाल के नाम शामिल हैं।

गौरतलब है कि सिंह के खिलाफ दो दिन पहले मेवालाल की तहरीर पर ही मुकदमा हुआ था।

पुलिस ने बताया कि तेतरा देवी की तहरीर पर दर्ज मुकदमें में आरोपियों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की 120 बी, 153 ए, 504, 506 और 509 धाराएं लगायी गयी है।

मुकदमा दर्ज हो जाने के बाद सिंह के परिजनों ने कहा, 'अब हमारी मांग है कि बसपा नेताओं को भी गिरफ्तार किया जाये, जिन्होंने परिवार की महिलाओं के खिलाफ घोर अभद्र भाषा का प्रयोग किया है।’ तेतरा देवी ने आज सुबह हजरतगंज कोतवाली में दाखिल तहरीर में आरोप लगाया था कि कल बसपा के प्रदर्शन के दौरान उनके, उनकी बेटी, बहू और नातिन के खिलाफ अत्यंत अभद्र भाषा और नारों का प्रयोग किया गया।

उन्होंने यह भी कहा था कि इस घटना के बाद से सिंह की 12 साल की बिटिया गहरे सदमे में है और उन्हें यह भी आशंका है कि सिंह की हत्या कराये जाने की भी साजिश हो सकती है।

सिंह के परिजनों ने बहरहाल बसपा नेताओं के खिलाफ लगायी गयी धाराओं को नाकाफी बताते हुए उनके खिलाफ और भी गंभीर धारायें लगाये जाने की मांग की है।

इससे पूर्व आज सुबह सिंह की पत्नी स्वाति सिंह ने कहा था, ‘मेरे पति राजनीति में हैं, मगर हमारा राजनीति से कोई सरोकार नहीं है। उनकी गिरफ्तारी की मांग को लेकर कल बसपा के प्रदर्शन में जिस तरह की भाषा का इस्तेमाल किया गया, वह सम्पूर्ण नारीजाति का अपमान है।’