महाराजगंज: दरोगा की पिटाई से नाराज दिव्यांग ने लगा ली आग, इलाज के दौरान हुई मौत

इस प्रकरण में पुलिस ने आनन-फानन में रात में ही मृतक के दूसरे भाई से तहरीर लेकर सगे भाई अविनाश और महिला समेत 4 के खिलाफ 307 के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया था.

महाराजगंज: दरोगा की पिटाई से नाराज दिव्यांग ने लगा ली आग, इलाज के दौरान हुई मौत
दिव्यांग जगरनाथ ने बीती रात पेट्रोल गिराकर अपने शरीर में आग लगा ली. 90 फीसदी जल चुके दिव्यांग की इलाज के दौरान मौत हो गई.

महाराजगंज: यूपी के महाराजगंज जिले में दरोगा की पिटाई के बाद क्षुब्ध होकर एक दिव्यांग ने पेट्रोल से आग लगा ली. गोरखपुर मेडिकल कॉलेज में इलाज के दौरान मंगलवार को दिव्यांग की मौत हो गई. इसके बाद उच्चाधिकारियों के निर्देश पर एसपी रोहित सिंह सजवान ने आरोपी दरोगा को लाइन हाजिर कर दिया है. वहीं, इस प्रकरण की जांच सीओ से तीन दिन में करने के निर्देश दिए हैं. इसके अलावा प्रशासन की तरफ से जिलाधिकारी डॉ. उज्ज्वल कुमार ने सम्पूर्ण घटना की मजिस्ट्रेटी जांच के आदेश दे दिए हैं. एडीएम समेत दो सदस्यीय जांच टीम मामले की जांच करेगी. इस संबंध में आईजी रेंज जय नारायण सिंह ने घटना के संबंध में जानकारी दी और कहा कि जैसा परिवार वाले चाहेंगे, वैसे ही जांच कर कार्रवाई की जाएगी.

वहीं, मृतक के भाई कमलेश ने फिर एक बार घटना के लिए पुलिस प्रशासन और आरोपी दरोगा को जिम्मेदार ठहराते हुए न्याय की मांग की है. फिलहाल इस प्रकरण में पुलिस ने आनन-फानन में रात में ही मृतक के दूसरे भाई से तहरीर लेकर सगे भाई अविनाश और महिला समेत 4 के खिलाफ 307 के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया था. अब देखना है कि पुलिस और मजिस्ट्रेटी जांच में क्या मामला सामने आता है. इस मामले में पुलिस अधीक्षक का कहना है कि मृतक दिव्यांग के छोटे भाई का गांव की ही एक महिला से संबंध था. महिला ने दिव्यांग के ऊपर हत्या करने को लेकर चौकी पर तहरीर दी थी. जिसके बाद दोनों पक्षों को बुलाकर 107, 116 की कार्यवाही की गई थी. 

दरअसल, महराजगंज जिले में पुलिस की पिटाई से क्षुब्ध होकर दिव्यांग ने आत्महत्या कर ली. निचलौल थाना क्षेत्र के शितलापुर खेसरारी निवासी दिव्यांग जगरनाथ ने बीती रात पेट्रोल गिराकर अपने शरीर में आग लगा ली. 90 फीसदी जल चुके दिव्यांग की इलाज के दौरान मौत हो गई. वहीं, दिव्यांग जगरनाथ के भाई ने दरोगा पर मृतक को जूते से पीटने का आरोप लगाया है.