close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

प्रदेश में शासन-व्यवस्था को लेकर योगी के कड़े तेवर, कहा- किसी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार सुबह यहां गोरखनाथ मंदिर में फरियादियों से मुलाकात की, और उनकी समस्याएं सुनी. 

प्रदेश में शासन-व्यवस्था को लेकर योगी के कड़े तेवर, कहा- किसी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं
.(फाइल फोटो)

गोरखपुर: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार सुबह यहां गोरखनाथ मंदिर में फरियादियों से मुलाकात की, और उनकी समस्याएं सुनी. मुख्यमंत्री ने लोगों को उनकी समस्याओं के निस्तारण का भरोसा दिलाया. योगी ने जनता की समस्याओं का तत्काल समाधान करने का अधिकारियों को निर्देश दिया और कहा कि लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी. मुख्यमंत्री योगी लगभग 45 मिनट तक जनता दरबार में रहे. इस दौरान वह गोरखपुर और आसपास के जिलों से आए लगभग 350 लोगों मिले और उनकी समस्या सुनी.

इस दौरान उन्होंने फरियादियों को समाधान का आश्वासन दिया, साथ ही इस बाबत अधिकारियों से कहा जनता की समस्याओं के समाधान में किसी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी.जनता दरबार समाप्त होने के बाद भी फरियादियों के आने का सिलसिला चलता रहा, तो योगी ने बाकी लोगों के शिकायती पत्र लेने के लिए मुख्यमंत्री शिविर कार्यालय के प्रभारी मोती लाल सिंह को निर्देशित किया.

इससे पहले मुख्यमंत्री सुबह सवा पांच बजे अपने आवास से निकले और बाबा गोरखनाथ के दरबार पहुंचे. वहां उन्होंने पूरे विधि-विधान से वैदिक मंत्रोच्चार के बीच बाबा की पूजा-अर्चना की. इसी क्रम में उन्होंने अपने गुरु ब्रह्मलीन महंत अवैद्यनाथ की समाधि पर पहुंचकर उनका भी आशीर्वाद लिया.

करीब आधा घंटा उन्होंने गोशाला में गायों के बीच गुजारा और उन्हें अपने हाथों से गुड़ चना खिलाया. उसके बाद वह हिंदू सेवाश्रम पहुंचे, जहां बड़ी संख्या में फरियादी अपनी समस्याएं सुनाने के लिए उनका इंतजार कर रहे थे. मुख्यमंत्री ने भी उनके दर्द को समझा और बारी-बारी से सबके पास खुद पहुंचकर ध्यानपूर्वक उनकी समस्याएं सुनी.

कई फरियादियों ने जब समस्या समाधान में अफसरों की ओर से की जा रही लापरवाही की शिकायत की तो योगी ने ऐसे अफसरों और कर्मचारियों को दंडित करने की बात कही.