close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

मेरठः मरने के बाद मरीज का कर दिया 10 बार ऐक्स रे, 11 लोगों को किया तलब

इसके पीछे स्टाफ की मंशा अभी तक सामने नहीं आई है. मौत के बाद एक्सरे कराने की सूचना से इमरजेंसी में हड़कंप मच गया. 

मेरठः मरने के बाद मरीज का कर दिया 10 बार ऐक्स रे, 11 लोगों को किया तलब
प्रतीकात्मक तस्वीर

मेरठ: मेरठ के एलएलआरएम मेडिकल कॉलेज में भले ही मरीज एक्स-रे कराने के लिए भटकते रहते हों, लेकिन ये जानकर आप हैरान होंगे कि वहां एक मुर्दे के 10 एक्सरे कराने का सनसनीखेज मामला प्रकाश में आया है. इस मामले में कॉलेज के प्राचार्य डॉ. आरसी गुप्ता ने केजुअल्टी मेडिकल ऑफिसर (ईएमओ), जूनियर चिकित्सकों और स्टाफ समेत 11 लोगों से जवाब तलब किया है. 

जानकारी के मुताबिक, 20 जून (गुरुवार) को मेडिकल थाना क्षेत्र के जागृति विहार सेक्टर-7 में एक व्यक्ति ने तेज रफ्तार कार से कई वाहनों में टक्कर मार दी थी. इस हादसे में एक रिक्शा चालक घायल हो गया था, जिसकी बाद में मेडिकल कॉलेज की इमरजेंसी में उपचार के दौरान मौत हो गई थी. रिक्शा चालक अख्तर मेरठ के फतेहउल्लापुर का रहने वाला था. मेडिकल स्टाफ ने  बिनी किसी सीनियर की अनुमति के मुर्दे के एक-दो नहीं पूरे 10 ऐक्स रे कर दिए थे.

इसके पीछे स्टाफ की मंशा अभी तक सामने नहीं आई है. मौत के बाद एक्सरे कराने की सूचना से इमरजेंसी में हड़कंप मच गया. एक टेक्निशियन ने 10 एक्सरे कराने की सूचना रेडियोलॉजी विभाग के प्रभारी को दी. प्रभारी डॉ. सुभाष ने प्राचार्य डॉ. आरसी गुप्ता को इससे अवगत कराया. रिक्शा चालक को प्रथम वर्ष के जूनियर रेजिडेंट ने अटेंड किया था. उसके शरीर में कई चोट और फ्रैक्चर थे.

सर्जरी और आर्थोपेडिक विभाग से जुड़े स्टाफ में मृत्यु के कारण को लेकर संदेह था. इस मामले में जिन जूनियर चिकित्सकों और स्टाफ की भूमिका सही नहीं पाई जाएगी, उनके खिलाफ अस्पताल प्रबंधन कार्रवाई करने की बात कह रहा है.