close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

UP: 25 हजार होमगार्ड्स की 'ड्यूटी' पर ग्रहण, पुलिस के बराबर वेतन होना बना मुसीबत!

बजट बैलेंस करने के लिए पुलिस और बाकी विभागों ने 32 फीसदी होमगार्ड्स की ड्यूटी काट दी है. ये फैसला 28 अगस्त को मुख्य सचिव की बैठक में ही ले लिया गया था, जिसके बाद एडीजी ने होमगार्ड्स की सेवाएं समाप्त करने का आदेश जारी किया गया है. 

UP: 25 हजार होमगार्ड्स की 'ड्यूटी' पर ग्रहण, पुलिस के बराबर वेतन होना बना मुसीबत!
मौजूदा स्थिति में होमगार्ड के वेतन का भुगतान उनकी लगने वाली ड्यूटी के आधार पर ही किया जाता है.

लखनऊ: यूपी पुलिस (UP Police) के बराबर वेतन होने का फैसला उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के होमगार्ड्स (Home Guards) पर भारी पड़ रहा है. क्योंकि सूबे में एडीजी के आदेश के बाद 25 हजार होमगार्ड्स की ड्यूटी को खत्म कर दी गई है. ड्यूटी को खत्म करने के पीछे बजट को वजह बताया गया है और कहा गया है कि बजट (Budget) बैलेंस करने के लिए पुलिस और बाकी विभागों ने 32 फीसदी होमगार्ड्स की ड्यूटी काट दी है. ये फैसला 28 अगस्त को मुख्य सचिव की बैठक में ही ले लिया गया था, जिसके बाद एडीजी ने होमगार्ड्स की सेवाएं समाप्त करने का आदेश जारी किया गया है. 

दरअसल, कहा जा रहा है कि पुलिस के सिपाही के बराबर दैनिक वेतन देने के सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद प्रदेश में होमगार्ड का वेतन 500 रुपए से बढ़कर 672 रुपए हो गया था. इसका सीधा प्रभाव पुलिस के बजट पर पड़ रहा था. इसी को देखते हुए यह निर्णय लिया गया.

मौजूदा स्थिति में होमगार्ड के वेतन का भुगतान उनकी लगने वाली ड्यूटी के आधार पर ही किया जाता है. उनकी कोई फिक्स तनख्वाह नहीं होती है. अब तक ड्यूटी रोटेशन के तहत एक जवान को कम से कम 25 दिन की ड्यूटी लगती थी, लेकिन अब एक होमगार्ड को महीने में अधिकतम 15 दिन की ही ड्यूटी मिल पाएगी. 

लाइव टीवी देखें

आपको बता दें कि पिछले दिनों सुप्रीम कोर्ट ने यूपी के होमगार्ड्स के वेतन को लेकर एक आदेश दिया था. अपने इस आदेश में सुप्रीम कोर्ट ने होमगार्ड के जवानों का दैनिक वेतन यूपी पुलिस के सिपाही के बराबर देने को कहा था. इस आदेश के बाद होमगार्ड के जवानों को बड़ी राहत मिलने की उम्मीद थी. लेकिन पुलिस महकमे के इस फैसले से अब उन्हें मायूसी हाथ लगी है.