close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

PF घोटाला: श्रीकांत शर्मा बोले, 'अखिलेश यादव सरकार में लिया गया निवेश का फैसला'

श्रीकांत शर्मा ने कहा कि 2017 में अखिलेश यादव मुख्यमंत्री थे और उन्होंने ही लूट का रैकेट तैयार किया था, जो लगातार सक्रिय था. 

PF घोटाला: श्रीकांत शर्मा बोले, 'अखिलेश यादव सरकार में लिया गया निवेश का फैसला'
श्रीकांत शर्मा ने कहा कि मामले में दो लोगों पर कार्रवाई हो चुकी है. हम जीरो टॉलरेंस पॉलिसी पर काम करते हैं.

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की योगी सरकार में ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने उत्तर प्रदेश पावर कॉरपोरेशन लिमिटेड (UPPCL) के पीएफ (PF) घोटाले पर रविवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस की. श्रीकांत शर्मा ने इस घोटाले के लिए पूर्ववर्ती अखिलेश यादव सरकार को दोषारोपण किया है. इसके साथ ही उन्होंने पूर्व मुख्यमंत्री एवं सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव और कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा पर जमकर निशाना साधा. श्रीकांत शर्मा ने कहा कि शहजादा और शहजादी बिना होमवर्क के बोलते हैं. उन्होंने कहा कि योगी सरकार पर आरोप लगाने से पहले उन्हें अपने गिरेबान में झांकना चाहिए. 

श्रीकांत शर्मा ने कहा कि 2017 में अखिलेश यादव मुख्यमंत्री थे और उन्होंने ही लूट का रैकेट तैयार किया था, जो लगातार सक्रिय था. हमारी सरकार ने गुनहगारों को जेल भेजा है. मामले में दो लोगों पर कार्रवाई हो चुकी है. हम जीरो टॉलरेंस पॉलिसी पर काम करते हैं. बता दें कि उत्तर प्रदेश पावर कॉरपोरेशन लिमिटेड प्रबंधन के उत्तर प्रदेश स्टेट पावर सेक्टर इम्प्लाइज ट्रस्ट में जमा करोड़ों रुपयों का DHFL में असुरक्षित निवेश किया गया था. इस मामले पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सीबीआई जांच की सिफारिश की है.

ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने पीएफ घोटाले को लेकर कहा कि कंपनियों में निवेश का निर्णय एक दिन में नहीं लिया गया. 21 अप्रैल 2014 को पावर कॉरपोरेशन ट्रस्ट बोर्ड की बैठक में निर्णय लिया गया था कि बैंक से इतर अधिक ब्याज देने वाली संस्थाओं में भी निवेश किया जा सकता है. उन्होंने कहा कि जांच में दोषी मिलने पर अन्य आला अधिकारियों के खिलाफ भी कड़ी कार्रवाई की जाएगी. गौरतलब है कि इस मामले में हजरतगंज कोतवाली में मुकदमा दर्ज कर लिया गया था. इसके साथ ही मामले में दोनों आरोपियों पूर्व निदेशक वित्त सुधांशु द्विवेदी व निलंबित महाप्रबंधक पीके गुप्ता को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है.