उत्तर प्रदेशः ब्रांडेड कंपनी की बोरियों में भर कर बेचा जा रहा था नकली सीमेंट, ऐसे हुआ खुलासा...

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के जनपद हापुड़ (Hapur) के कोतवाली पिलखवा के गांव सिखेड़ा रोड पर पुलिस ने एक अवैध सीमेंट (Illegal cement) बनाने की फैक्ट्री पर छापा मारकर सैकड़ों बने अधबने सीमेंट के कट्टे बरामद किये हैं. 

उत्तर प्रदेशः ब्रांडेड कंपनी की बोरियों में भर कर बेचा जा रहा था नकली सीमेंट, ऐसे हुआ खुलासा...
पुलिस ने फैक्ट्री पर छापा मारकर सैकड़ों ब्रांडेड कंपनियों के सीमेंट के कट्टे बरामद किए हैं

हापुड़ः उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के जनपद हापुड़ (Hapur) के कोतवाली पिलखवा के गांव सिखेड़ा रोड पर पुलिस ने एक अवैध सीमेंट (Illegal cement) बनाने की फैक्ट्री पर छापा मारकर सैकड़ों बने अधबने सीमेंट के कट्टे बरामद किये हैं. पुलिस ने यहां से कई ब्रांडेड कंपनियों के कट्टे भी बरामद किए हैं. इन ब्रांडेड कंपनियों की बोरियों में नकली सीमेंट भरकर बेंचा जा रहा था. पुलिस ने मौके से फैक्ट्री मालिक नदीम को भी हिरासत में लिया है, जिससे पूछताछ की जा रही है. आपको बता दें कि डायल 112 पर पुलिस को सूचना मिली कि सिखेड़ा रोड पर नकली सीमेंट ब्रांडेड कंपनियों के कट्टों में पैक किया जा रहा है.

मौके पर पहुंची पुलिस ने फैक्ट्री पर छापा मारा तो सैकड़ों बने अधबने सीमेंट के कट्टे सहित सीमेंट छानने का छन्ना और सैकड़ों खाली ब्रान्डेड कंपनियों के कट्टे बरामद किए. वहीं मौके पर मौजूद फैक्ट्री मालिक नदीम को भी पुलिस हिरासत में ले लिया है. इसके अलावा छापा मारने पहुंची पुलिस ने फैक्ट्री और इस छापेमार कार्रवाई का वीडियो भी बनाया है. जिसमें फैक्ट्री में मौजूद मजदूरों को ब्रांडेड कंपनियों की बोरियों में नकली सीमेंट भरते देखा जा सकता है.

थाने में हैवानियत! पुलिस हिरासत में युवक की मौत, चौकी इंचार्ज समेत 3 सस्पेंड

बताया जा रहा है कि नदीम सिखेड़ा रोड पर सीमेंट की दुकान चलता है. नदीम ने दुकान से कुछ दूरी पर एक फैक्ट्री बना रखी थी, जिसमें नकली सीमेंट के कट्टे तैयार कर दुकान पर बेचे जाते थे. वहीं ब्रांडेड कंपनियों के क्ट्टे में सीमेंट खरीदने वाले लोगों को यह नहीं पता होता कि वह असली सीमेंट खरीद रहे हैं या नकली. हांलाकि पुलिस ने का कहना है सीमेंट की जांच कराई जा रही है. जांच के बाद ही मामले पर कुछ भी कहा जा सकता है. बता दें मरम्मत के बाद बिल्डिंग्स के धराशाई होने की वजह सीमेंट की खराब क्वालिटी ही होती है.