सोशल मीडिया पर फ्रेंडशिप कर बुलाती थी मिलने, साथी फर्जी पुलिसवाले बन करते थे लूट, हत्थे चढ़े

इस गैंग में शामिल लड़कियां पहले सोशल मीडिया के जरिए अपने हुस्न के जाल में लोगों को फंसाती थी. उसके बाद उस व्यक्ति को होटल या किसी कमरे में बुलाकर गैंग के अन्य सदस्यों के साथ लूटपाट करती थीं.

सोशल मीडिया पर फ्रेंडशिप कर बुलाती थी मिलने, साथी फर्जी पुलिसवाले बन करते थे लूट, हत्थे चढ़े
पुलिस की गिरफ्त में आरोपी लड़कियां.

गाजियाबाद: प्रदेश में आए दिन लूटपाट, धोखाधड़ी और जालसाजी के मामले सामने आते रहते हैं. ताजा मामला गाजियाबाद का है, जहां एक गैंग फर्जी पुलिस बनकर लूटपाट को अंजाम देता था. पुलिस प्रशासन ने शुक्रवार को इस गैंग के लोगों को धर दबोचा है. बता दें कि इस गैंग में कई लड़कियां भी शामिल हैं. 

'नेस्तनाबूद' हुआ अतीक का 300 करोड़ का अवैध साम्राज्य, इस सफाई का हर्जाना भी भरेगा

कैसे करते थे लूटपाट?
इस गैंग में शामिल लड़कियां पहले सोशल मीडिया के जरिए अपने हुस्न के जाल में लोगों को फंसाती थी. उसके बाद उस व्यक्ति को होटल या किसी कमरे में बुलाती थीं. थोड़ी देर बाद इस गैंग के दूसरे लोग पुलिस की वर्दी पहनकर कमरे में पहुंच जाते थे और आपत्तिजनक अवस्था मे उनकी फोटो खींच लेते थे. इसके बाद गैंग, उन लोगों को लूटने का काम शुरू करता था. 

पहाड़ और जंगल बने ऑनलाइन क्लास में बाधा, शिक्षक ने निकाला ''घर आया स्कूल'' कॉनसेप्ट

इस जाल में फंसे कई लोग शर्म के कारण शिकायत दर्ज नहीं कराते थे. बीते दिनों पुलिस को ऐसी ही एक शिकायत मिली. जिसके बाद पुलिस ने जाल बिछाकर इस गैंग के दो लोगों को गिरफ्तार कर लिया है. एसपी सिटी अभिषेक वर्मा के मुताबिक इस गैंग में शामिल 5 अन्य लोगों की तलाश जारी है. इस मामले में कुल 7 लोग हैं. जिसमें कई लड़कियां भी शामिल हैं. इसके साथ ही इस गैंग ने कितने लोगों को अपना शिकार बनाया इसका भी पता लगाया जा रहा है. 

WATCH LIVE TV