close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

गोंडा: सूदखोरों के जाल में फंसा परिवार, दो लाख के लिए बिका खेत, अभी भी बाकी हैं 77 लाख

दरअसल, गोंडा के कर्नलगंज कोतवाली क्षेत्र के रायगढ़ गांव के रहने वाले दूधनाथ की पत्नी ने दूधनाथ के इलाज के लिए दो साल पहले 4 लाख ब्याज पर लिए थे.

गोंडा: सूदखोरों के जाल में फंसा परिवार, दो लाख के लिए बिका खेत, अभी भी बाकी हैं 77 लाख
पुलिस पूरे मामले की जांच कर कार्रवाई करने की बात कर रही है.

अंबिकेश्वर प्रताप/गोंडा: उत्तर प्रदेश के गोंडा में सूदखोरों के जाल में फंसा एक किसान परिवार पुलिस विभाग के चक्कर लगा रहा है. किसान के अनुसार, दो साल में ब्याज लगकर उसके चार लाख को 44 लाख कर दिया गया. वहीं, अभी भी 77 लाख की रकम बाकी है. किसान का कहना है कि  उसकी 180 बीघा जमीन भी बिक गयी है. दरअसल, पति के इलाज के लिए एक आदमी से ब्याज पर पैसा लेना किसान परिवार को भारी पड़ गया. किसान ने 4 लाख के बदले अपना जमीन-जायदाद बेचकर 44 लाख रुपए चुकाए. बावजूद इसके अभी भी किसान परिवार के ऊपर 77 लाख रुपए का कर्जा बरकरार है.

दरअसल, मामला गोंडा के कर्नलगंज कोतवाली क्षेत्र के रायगढ़ गांव के रहने वाले दूधनाथ की पत्नी ने दूधनाथ के इलाज के लिए दो साल पहले 4 लाख ब्याज पर लिए थे. किसान परिवार के अनुसार, पीड़ित परिवार सूदखोर को चार लाख के बदले 44 लाख रुपए दे चुका है. उसके बाद भी अभी दबंग सूदखोर 77 लाख रूपया का बकाया पीड़ित के ऊपर बता रहे हैं. चार लाख से 44 लाख देने में पीड़ित की जमीन बिक गई. अब दबंग पीड़ित के घर पर कब्जा करना चाहते हैं. परिवार के अनुसार, दबंगों उनके घर से तीन ट्रैक्टर उठा ले गए. पीड़ित ने थाना, पुलिस अधीक्षक और सर्किल ऑफिसर से शिकायत की है. परिवार का कहना है कि अभी तक कोई कार्यवाही नहीं हुई है. फिलहाल, पुलिस पूरे मामले की जांच कर कार्रवाई करने की बात कर रही है. 

वहीं, पूरे मामले पर कर्नलगंज सर्किल के क्षेत्राधिकारी जितेन्द्र दुबे का कहना है कि थाना कर्नलगंज क्षेत्र के भभुआ चौकी क्षेत्र के रायगढ़ के रहने वाले दूधनाथ ने तहसील दिवस में और हम को प्रार्थना पत्र दिया है. प्रार्थना पत्र पर बबुआ चौकी इंचार्ज को निर्देशित किया गया है कि पूरे मामले की जांच करें. जब से हम लोगों को प्रार्थना पत्र मिला है, हम लोग पूरे मामले की जांच कर रहे हैं और जांच के बाद वैधानिक कार्यवाही करेंगे.